छत्तीसगढ़: पेंड्रा व अंबिकापुर में पारा 4 पर

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ में जारी शीतलहर का असर दिनों-दिन बढ़ता ही जा रहा है. राजधानी में तापमान जहां 11 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया वहीं पेंड्रा और अंबिकापुर में पारा 4 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया. इन दिनों राज्य के अधिकांश जिलों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में और ठंड बढ़ने की चेतावनी दी है.

बताया जाता है कि छत्तीसगढ़ में शीत लहर के असर से सरगुजा के मैनपाट में बर्फ जमने लगी है. मौसम विभाग के अनुसार इन दिनों बिलासपुर तथा सरगुजा संभाग में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. वहीं, राजधानी रायपुर में आसमान साफ होने से ठंड बढ़ गई है.


इस वर्ष दिसंबर से अब तक न्यूनतम तापमान 10.2 डिग्री सेल्सियस तक जा चुका है, जबकि पिछले साल सबसे कम न्यूनतम तापमान 11.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था. वहीं रायपुर में अधिकतम तापमान 24.6 डिग्री और न्यूनतम 11.0 डिग्री सेल्सियस, राजनांदगांव में 23.0 और 11.0, दुर्ग में 24.8 और न्यूनतम 6.4, बिलासपुर में 25.5 और 7.7 और पेंड्रारोड और अंबिकापुर में 4.5-4.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

मौसम विज्ञानी जे.के. इंगले का कहना है कि वर्तमान में प्रदेश में उत्तर-उत्तर पूर्वी हवा आ रही है. इसके प्रभाव से ही पूरे राज्य में तापमान में परिवर्तन आने के साथ ही कुछ स्थानों का तापमान 4 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है.

लेकिन पिछले कुछ दिनों से जारी शीत लहर से पूरे प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. मौसम विभाग ने भी आगामी कुछ दिनों तक मौसम स्थिर रहने की संभावना जताई है. उत्तरी हवाओं के चलते प्रदेश में ठंड एक बार फिर बढ़ गई है. ये हवाएं हिमालय से प्रदेश की ओर पहुंच रही हैं. मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार तापमान में अभी और कमी आ सकती है.

सोमवार सुबह से ही जारी ठंड ने लोगों को फिर कंपकंपा दिया है. लोग दिन में गर्म कपड़े पहनने मजबूर हुए. वहीं रात में नगर निगम रायपुर की ओर से दर्जनों जगहों पर अलाव की व्यवस्था भी की गई है. रात के तापमान में लगातार कमी आ रही है,जिससे ठंड बढ़ रही है.

मौसम विभाग के अनुसार बार-बार हवा की दिशा बदल रही है. उनका कहना है कि उत्तर से ठंडी हवाएं आर ही हैं.बताया जाता है कि प्रदेश के सरगुजा, बिलासपुर और बस्तर संभाग के ज्यादातर स्थानों सहित रायपुर संभाग में भी दिन में भी कड़ाके की ठंड पड़ रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!