छत्तीसगढ़ में नान, धान, खदान घोटाला

रायपुर | समाचार डेस्क: कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ सरकार पर नान, खान और खदान घोटाले में लिप्त होने का आरोप लगाया. शनिवार को राजधानी रायपुर में एक प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस नेता तथा पूर्व गृह राज्य मंत्री आरपीएन सिंह मोदी सरकार के दो साल पूरे होने के अवसर पर कांग्रेस द्वारा जारी बुकलेट का विमोचन किया. कांग्रेस ने ‘मोदी सरकार के झूठ और झूठे वायदों के दो साल’ के नाम से एक बुकलेट जारी किया है.

उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि राष्ट्रवाद की बात करने वाली पार्टी ने पकिस्तान के सामने घुटने टेक दिये. उन्होंने कहा 26/11 की घटना के बाद भी हमारे प्रधानमंत्री शादी का लड्डू खाते हैं और अगले दिन हमारे जवान शहीद होते हैं.


उन्होंने कहा मालेगांव ब्लास्ट मामले में एक आरोपी को छोड़ने का काम किया गया है. ललित मोदी पर भी कारवाई नहीं की गयी.

छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुये आरपीएन सिंह ने कहा कि यहां नान, धान और खदान घोटाला हुआ है.

उल्लेखनीय है कि मोदी सरकार दो साल पूरे होने का जश्न मना रही है तो इधर कांग्रेस भी चुप नहीं है. वह सरकार की नाकामियों को उजागर करने की कोशिश कर रही है. इसी सिलसिले में कांग्रेस के बड़े नेता शनिवार को देश के अलग-अलग शहरों में 25 प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं.

इससे पहले गुरुवार को कांग्रेस के चार बड़े नेताओं ने कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कांफ्रेंस कर मोदी सरकार की विफलताओं को गिनाया. पार्टी ने छोटे छोटे कई वीडियो क्लिप भी पेश किए जिसके ज़रिए कालाधन वापस लाने से लेकर नौजवानों को रोज़गार देने तक के वादे की खिल्ली उड़ाई गई है.

कांग्रेस ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया है कि “हमसे ताकतवर प्रधानमंत्री का वादा किया गया जबकि इससे कहीं दूर, हमारे पास ऐसा प्रधानमंत्री है जो बोलता बहुत है लेकिन कहता कुछ नहीं. हमारे अपने पड़ोस में, पाकिस्तानी आतंकवादियों ने हमारे एयरबेस पर हमला किया और हमारे जवानों को मार डाला, और मोदी जी ने उसी एयर बेस में उनका स्वागत किया. चीनी सेना लद्दाख में घुस गयी और प्रधानमंत्री तथा चीन के राष्ट्रपति अहमदाबाद में एक साथ झूला झूल रहे थे.”

“इससे भी ज्यादा हैरानी की बात ये है कि हमारे वित्त मंत्री आसमान छूती खाद्य महंगाई, ठप पड़े विनिर्माण क्षेत्र और संकट में गिरे बैंकिंग सेक्टर के बावजूद आंकड़ों की बाजीगरी से दुनिया को यह समझाने की कोशिश में लिप्त हैं कि हमारा सकल घरेलू उत्पाद ठीक दर से बढ़ रहा है. पूरी दुनिया के अर्थशास्त्रियों में भारत सरकार द्वारा प्रकाशित आंकड़ों से हड़कंप की स्थिति है, क्योंकि ये जमीनी हकीकतों को प्रतिबिंबित नहीं करते.”

कांग्रेस ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि, “निर्मल भारत अभियान का नाम बदल कर स्वच्छ भारत अभियान या वित्तीय समावेशन योजना को जन धन योजना, या आधार कार्ड और डीबीटी जैसी योजनाओं के जरिये मोदी सरकार ने खुद को नाकाबिल साबित कर दिया है और कोई भी नयी योजना लेकर आने में वह नाकाम रही है, वह सिर्फ कांग्रेस की पुरानी योजनाओं की रि-पैकेजिंग कर रही है और इसी के इर्दगिर्द मेगा इवेंट का सहारा लेकर लोगों को भरमाने की कोशिश कर रही है. हम सब जानते हैं कि यह सरकार तमाशा पसंद करती है लेकिन रोजमर्रा का शासन पसंद नहीं करती.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!