सबको टिकट देने पर कांग्रेस राजी

रायपुर | छत्तीसगढ़ संवाददाता : बागी-दागी, बुरी तरह हारे सभी को टिकट देने पर कांग्रेस के बड़े नेता एकमत हैं. कांग्रेस में प्रत्याशी चयन को लेकर दिल्ली में बैठकों का दौर जारी है. इस कड़ी में बागी-दागी और लोकसभा चुनाव में भारी अंतर से पीछे रहने वाले विधानसभा क्षेत्रों के विधायकों को दोबारा प्रत्याशी बनाए जाने के मसले पर सभी बड़े नेता एकमत है. ये नेता प्रत्याशी चयन की शर्तों में छूट के लिए दोपहर बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिलेंगे.

राहुल फार्मूले के मुताबिक जिन नेताओं के खिलाफ गंभीर आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं उन्हें प्रत्याशी नहीं बनाया जा सकता है. इस श्रेणी में खल्लारी के विधायक परेश बागबाहरा और कोरबा के विधायक जय सिंह अग्रवाल आते हैं. उनके खिलाफ धोखाधड़ी का मामला पंजीबद्ध है. इसके अलावा पार्टी से बगावत कर दूसरे दल से चुनाव लडऩे वाले नेताओं की वापसी के बाद उन्हें दोबारा प्रत्याशी बनाए जाने के लिए करीब साल भर इंतजार करना होगा.


बसपा छोड़कर आने वाले नेता सौरभ सिंह, पूर्व विधायक नोबेल वर्मा और पूर्व मंत्री मनोज मंडावी को फिर से टिकट देने की सिफारिश की गई है. लेकिन ये तीनों नेता भी राहुल फार्मूले में फिट नहीं बैठते हैं. साथ ही पिछले लोकसभा चुनाव में 10 हजार से पीछे रहने वाले विधानसभा क्षेत्रों के विधायकों को दोबारा टिकट नहीं देने की सिफारिश की गई है. करीब 30 विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस 10 हजार मतों से पीछे रह गई थी. इनमें से एक दर्जन विधायक हैं. जिनमें कवासी लखमा, भोला राम साहू, टी.एस. सिंहदेव, प्रेमसाय सिंह, बदरूद्दीन कुरैशी, पद्मा मनहर सहित अन्य विधायक शामिल है. इन विधायकों को दोबारा प्रत्याशी बनाए जाने की सिफारिश संगठन ने की है.

कांग्रेस के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा के कक्ष में गुरुवार को प्रदेश अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, नेता प्रतिपक्ष रविन्द्र चौबे और प्रदेश प्रभारी बी.के. हरिप्रसाद ने बैठक की. इस बैठक में इन तमाम शर्तों को शिथिल करने पर जोर दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!