‘मौत के आकड़ें छुपाये जा रहे हैं’

अंबिकापुर | समाचार डेस्क: पूर्व मंत्री कांतिलाल भूरिया ने आरोप लगाया कि मैनपाट में डायरिया से हुई मौतों के आकड़ें छुपाये जा रहें हैं. मैनपाट दौरे पर पहुंचे कांग्रेस टीम में शामिल पूर्व मंत्री कांतिलाल भूरिया ने कहा कि सरकार एक माह में 21 मौतें बता रही है जबकि 6 गांवों में ही 31 लोगों की डायरिया से मौतें हो चुकी हैं. उन्होंने कहा कि सर्वे कराने पर पता चलेगा कि मौतें डेढ़ सौ से अधिक हुई है.

छत्तीसगढ़ के सरगुजा के मैनपाट में डायरिया से हो रही मौतों की जांच करने कांग्रेस की केन्द्रीय टीम दिल्ली से आई हुई है. जिसमें पूर्व मंत्री कांतिलाल भूरिया, पूर्व केन्द्रीय मंत्री पनाबाका लक्ष्मी, झारखंड के केएन त्रिपाठी, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव तथा विधायक अमरजीत भगत शामिल हैं.

कांग्रेस की टीम ने सबसे ज्यादा मौतों वाली जगह असगवां, नर्मदापुर का दौरा किया.

कांग्रेस की टीम ने पाया कि नर्मदापुर में मरीज डॉक्टर के इंतजार में बैठे हैं. अस्पताल में स्लाइन लगाने वाला कोई भी कर्मचारी नहीं था.

मैनपाट के जिन क्षेत्रों में डायरिया से मौते हुई हैं वहां के ग्रामीण ढ़ोंढ़ी व पहाड़ से निकल रहे पानी को पीने के लिये मजबूर हैं. गांव के हैंडपंप के पानी में फ्लोराइड होने के कारण लोग उसे नहीं पी पा रहें हैं.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *