छत्तीसगढ़: पंचायतों का परिसीमन होगा

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में वर्तमान पंचायतों का परिसीमन होगा. इसके लिये छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम में संशोधन के लिए अध्यादेश लाया जायेगा. इस बात का निर्णय गुरुवार को मुख्यमंत्री रमन सिंह की अध्यक्षता में रायपुर में हुई कैबिनेट की बैठक में निर्णय लिया गया है.

इस संशोधन के जरिए जनगणना वर्ष 2011 के आधार पर वर्तमान पंचायतों का परिसीमन होगा और उनमें सीटों का नये सिरे से आरक्षण किया जाएगा. गुरुवार को हुई छत्तीसगढ़ कैबिनेट की बैठक में राज्य में मानसून की बारिश, फसलों की स्थिति और अधिक वर्षा वाले जिलों में बाढ़ राहत के लिए प्रशासन द्वारा किए जा रहे उपायों की भी समीक्षा की गई.


मुख्यमंत्री ने राजस्व और आपदा प्रबंधन विभाग को अतिवृष्टि तथा बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए तत्परता से कदम उठाने के निर्देश दिए.

कैबिनेट की बैठक में राजस्व और आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राज्य में इस बार मानसून के दौरान विगत एक जून से कल छह अगस्त तक सभी 27 जिलों में कुल 695.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है. यह पिछले दस वर्षों की औसत वर्षा का 108.7 प्रतिशत है.

जल संसाधन विभाग के 42 सिंचाई जलाशयों में कल छह अगस्त की स्थिति में 94.23 प्रतिशत जल भराव हो चुका है. मानसून के दौरान प्रदेश में धान सहित विभिन्न खरीफ फसलों की बोनी तेजी से चल रही है. इस मौसम में अब तक धान की 75 प्रतिशत बोनी हो चुकी है.

कैबिनेट की बैठक में बताया गया कि प्रदेश में अतिवर्षा से जनहानि के आठ और पशु हानि के 29 प्रकरण हुए हैं. पूर्ण रूप से 78 मकानों को और आंशिक रूप से तीन हजार 420 मकानों को क्षति पहुंची है. लगभग तीन हजार 862 हेक्टेयर में फसलों को नुकसान पहुंचा है.

बाढ़ प्रभावितों के लिए संबंधित जिलों में 37 राहत शिविर संचालित किए जा रहे हैं, जिनमें तीन हजार 826 लोगों को ठहराया गया है और उनके लिए भोजन आदि की निःशुल्क व्यवस्था की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!