छत्तीसगढ़ निकाय चुनाव: निर्दलीय का सिर फूटा

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ में नगरीय निकाय चुनाव के पहले चरण का मतदान सोमवार को हुआ. कड़ाके की ठंड के कारण पहले दो घंटों में मतदान की गति काफी धीमी रही. प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में प्रत्याशियों के आपस में भिड़ने की खबर है. बेमेतरा के एक वार्ड में मतदान का बहिष्कार किया गया तो राजधानी रायपुर के एक वार्ड में ईवीएम खराब होने की वजह से मतदान रुक गया.

सूबे के भाटापारा के मातादेवरा मतदान केंद्र पर दो प्रत्याशी आपस में भिड़ गए, जिसमें एक निर्दलीय प्रत्याशी अजीत वाजपेयी का सिर फूट गया. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस दल मौके पर पहुंचा और उन्होंने दोनों प्रत्याशियों और उनके समर्थकों को अलग कराया. निर्दलीय प्रत्याशी को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया. घटना के बाद वाजपेयी के समर्थकों ने पास के मुख्य मार्ग पर चक्का जाम कर दिया.

मतदान केंद्र में हुई इस घटना से कुछ देर के लिए मतदान रुक गया, दोनों प्रत्याशियों और उनके समर्थकों को वहां से हटाने के बाद फिर से मतदान शुरू हो सका.

अंबिकापुर में पार्षद पर के प्रत्याशी भिड़ गए:
एक पार्षद पद के प्रत्याशी वोट डालने के बाद बाहर खड़े मतदाताओं से अपने पक्ष में वोट डालने के लिए कह रहे थे. इस दौरान वहां मौजूद निर्दलीय प्रत्याशी ने इस पर आपत्ति जताई और दोनों आपस में भिड़ गए. वहां मौजूद सुरक्षाबलों ने उन्हें शांत कराया.

जगदलपुर में भिड़े भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ता:
अब्दुल कलाम वार्ड में भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. पोलिंग बूथ 87 में दोनों दलों के प्रत्याशी के समर्थक आपस में भिड़ गए, दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर लोगों को अपने पक्ष में वोट डालने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है. इस दौरान वहां खड़ी भाजपा समर्थकों की कारों में भी तोड़फोड़ की गई.

बीजापुर में ईवीएम हुई खराब:
बीजापुर के एक ईवीएम मशीन में खराबी की वजह से मतदान एक घंटे देरी से शुरू हुआ. भट्टीपारा मतदान केंद्र में लगी रही मतदाताओं की कतार. रायपुर के अरविंद दीक्षित वार्ड में ईवीएम खराब होने की वजह से मतदान रुक गया, जिससे मतदाता परेशान हो गए. कोरबा में वार्ड 22 शिवाजी नगर केंद्र क्रमांक 94 में ठंड के बाद भी सुबह से मतदाताओं की लंबी कतार लगी.

बेमेतरा में चुनाव का बहिष्कार:
नगर पालिका क्षेत्र के वार्ड 6 में चुनाव बहिष्कार के कारण मतदान घंटों शुरू नहीं हुआ. सूचना मिलते ही चुनाव के आला अधिकारी मतदाताओं को समझाने के लिए पहुंच गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *