जनता ने निलंबित नहीं किया: पोटाई

रायपुर | समाचार डेस्क: भारतीय जनता पार्टी से सोमवार को निलंबित पूर्व सांसद सोहन पोटाई ने यहां मंगलवार को कहा कि उन्हें पार्टी ने निलंबित किया है, जनता ने नहीं.

पोटाई ने कहा कि उन्होंने पार्टी विरोधी कोई कार्य नहीं किया है. उनसे पहले भी भाजपा के पूर्व नेता शिव कुमार प्रताप सिंह को आदिवासी हितों की बात करने पर पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखाया था. इससे पहले पार्टी के समर्पित सांसद ताराचंद साहू को भी अपनी बात स्पष्ट कहने पर अपमानित होना पड़ा था.

भाजपा से चार बार सांसद रहे सोहन पोटाई ने प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि छत्तीसगढ़िया लोग अपना राज्य बनने के बाद भी शोषण के शिकार हो रहे हैं. छत्तीसगढ़ियों को आउटसोर्सिग के माध्यम से लगातार छला जा रहा है.

पोटाई ने पत्रकारों से कहा कि भाजपा में रहकर छत्तीसगढ़िया हित की बात करना गुनाह हो गया है. छत्तीसगढ़िया हित की बात उठाना अब पार्टी विरोधी कार्य बन गया है.

उन्होंने मीडिया से कहा कि भाजपा अब अटल बिहारी बाजपेयी के आदर्शो वाली पार्टी नहीं रही. उन्हें भाजपा के साथ ही उसके नियंत्रण वाली किसी भी सरकार पर यकीन नहीं रहा.

कांग्रेस से अलग होकर अपनी पार्टी बनाने जा रहे पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के हाथ थामने के मुद्दे पर उन्होंने साफ कहा, “मैं अजीत जोगी के साथ नहीं जाऊंगा.”

उन्होंने ने हाल ही में गीदम पंचायत अध्यक्ष अभिलाष तिवारी द्वारा सब्जी बेचने वाले पर लात मारे जाने की घटना पर सवाल उठाया. साथ ही भानुप्रतापपुर के पूर्व एसडीएम रणवीर शर्मा द्वारा भ्रष्टाचार के मामले में पकड़े जाने के बावजूद उन्हें पदोन्नत किए जाने पर पार्टी द्वारा चुप्पी साधने पर आपत्ति की.

पत्रकार वार्ता में उपस्थित कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविंद नेताम ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पूरा प्रदेश भ्रष्टाचार में डूबा हुआ है. जिस तरह छत्तीसगढ़िया, गैर छत्तीसगढ़िया के जुल्म का शिकार हो रहे हैं, उसका जवाब आने वाले विधानसभा चुनाव में जनता देगी.

गौरतलब है कि कांकेर से चार बार सांसद रहे सोहन पोटाई को सोमवार देर रात प्रदेश भाजपा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *