छत्तीसगढ़: एक और किसान ने फांसी लगाई

राजनांदगांव | समाचार डेस्क: राजनांदगांव के उरई डबरी में एक किसान ने आत्महत्या कर ली है. मिली जानकारी के अनुसार उमराव वर्मा नाम के किसान ने अपने खेत के नीम के पेड़ पर फांसी लगा ली है.

घटना मंगलवार सुबह की है. किसान के द्वारा फांसी लगा लेने के बाद भी पुलिस के न पहुंचने पर गांववालों में रोष व्याप्त है.

पिछले साल ही राजनांगदांव में दो किसानों ने आत्महत्या कर ली थी. राजनांदगांव के मोहला दुग्गाटोला गांव के 35 वर्षीय हरिशचंद्र भूआर्य ने जहर खाकर आत्महत्या की थी.

उसे इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती कराया गया परन्तु चिकित्सा विज्ञान के पास किसानी से आत्महत्या रोकने का कोई उपाय नहीं था. यह इलाका सूखा प्रभावित घोषित है.

दूसरी घटना बालोद के आदिवासी किसान 48 वर्षीय किसान अंकलूराम ने कर्ज न चुका पाने के कारण फांसी लगाकर अपनी जान दे दी थी. अंकलूराम के परिवार ने मीडिया को बताया कि बारिश कम होने के कारण धान की फसल ठीक से नहीं हुई थी.

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने सबसे ज्यादा राशि 28 करोड़ रुपये राजनांदगांव को ही सूखे के कारण दी है.

किसान मरे नहीं तो क्या करें

छत्तीसगढ़ सबसे गरीब क्यों?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *