छत्तीसगढ़ सरकार निवेशकों से मिलने जायेगी

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में निवेशकों को आकर्षित करने के लिये सरकार स्वंय उनसे मिलने जायेगी. इसके अलावा ‘मेक इन छत्तीसगढ़’ को सफल बनाने के लिये दूसरे ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट की तैयारी शुरू कर दी गई है. छत्तीसगढ़ सरकार के अधिकारियों ने बैठक में बताया गया कि राज्य के दूसरे ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट की तैयारी के लिए अरनेस्ट यंग नामक सलाहकार संस्था की सेवाएं ली जाएंगी. इस सिलसिले में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को मंत्रालय में छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम की बैठक आयोजित की गयी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसा करना ज्यादा प्रभावी और परिणाम मूलक होगा. इसके बाद आवश्यक होने पर ही छत्तीसगढ़ में निवेशक सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा, लेकिन यह सम्मेलन विशाल स्वरूप में नहीं होगा. डॉ. सिंह ने बैठक में राज्य में प्रस्तावित आगामी ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट 2015 के आयोजन की तैयारियों के संबंध में विचार-विमर्श किया और अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्योत्सव 2012 के दौरान आयोजित किए गए प्रथम ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट की तरह छत्तीसगढ़ का दूसरा विश्व निवेशक सम्मेलन भी नॉन कोर सेक्टर के पर्यावरण हितैषी और अधिक रोजगार देने वाले उद्योगों पर केन्द्रित होगा. इसके अन्तर्गत सौर ऊर्जा, सूचना प्रौद्योगिकी, जैव प्रौद्योगिकी, खाद्य प्रसंस्करण, लघु वनोपज प्रसंस्करण, आटो मोबाईल आदि सेक्टरों में अधिक से अधिक निवेश आकर्षित करने का प्रयास किया जाएगा.

बैठक में मुख्यमंत्री के सलाहकार शिवराज सिंह, मुख्य सचिव विवेक ढांड, वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव डी.एस.मिश्रा, ऊर्जा और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग तथा मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह, लोक निर्माण, जनसम्पर्क तथा ग्रामोद्योग विभाग के प्रमुख सचिव अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के सचिव सुबोध कुमार सिंह, संयुक्त सचिव रजत कुमार, उद्योग विभाग के संचालक कार्तिकेय गोयल, छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम के प्रबंध संचालक सुनील मिश्रा और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *