छत्तीसगढ़ में भूजल स्तर गिरा

धमतरी | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में भूजल स्तर गिर गया है तथा हैंडपंप सूख गये हैं. इस कारण से वहां हैंडपंप का पानी सूख गया है. भूजल का स्तर गिर जाने से धमतरी के 700 हैंडपंप बंद पड़े हैं. छत्तीसगढ़ में भीषण गर्मी और पानी की बेतहाशा खपत के कारण भूजल स्तर लगातार गिर रहा है. मई के अंतिम दिनों तक स्थिति और विकराल हो सकती है. जमीन का पानी नीचे जाने के कारण जिले के 700 हैंडपंप बंद हो गए हैं, जिनमें से 647 हैंडपंपों की मरम्मत संभव नहीं है. औसतन मगरलोड में 71 फीट, धमतरी 68 फीट, कुरुद 56 फीट और नगरी में 60 फीट नीचे पानी मिल रहा है.

धमतरी पीएचई के कार्यपालन यंत्री जी.एन. रामटेके ने बताया कि जिले में कुल 9280 हैंडपंप हैं, जिनमें से 647 बंद है और यह चालू नहीं हो सकते. 47 हैंडपंप सुधार योग्य हैं, जिनकी मरम्मत की जा रही है. मगरलोड ब्लॉक में जलस्तर में ज्यादा गिरावट हुई है.

जमीन का पानी तेजी से नीचे जाने के कारण अप्रैल में ही धमतरी जिले का औसत जलस्तर दो मीटर से ज्यादा नीचे चला गया. इससे कई जगहों के हैंडपंप बंद हो गए. बोर भी सूखने लगे हैं और बोर की धार भी पतली हो गई है. गर्मी के चलते गांवों में हैंडपंप खराब होने की समस्या भी बढ़ गई है.

धमतरी जिले में सर्वाधिक खराब स्थिति मगरलोड ब्लॉक की है. वर्षा ऋतु में यहां बहुत कम बारिश हुई, जिसके कारण इस क्षेत्र के जलाशयों में बहुत ही कम पानी भर पाया. गर्मी के मौसम में अभी से मगरलोड ब्लॉक का भूजल स्तर औसत से 11 फीट नीचे चला गया है, जिसके कारण 300 से ज्यादा हैंडपंप बंद हो गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *