झीरम के जज को धमकी

बिलासपुर | संवाददाता: झीरम घाटी मामले की सुनवाई कर रहे जज को फिर धमकी मिली है. जज एमडी कातुलकर को यह धमकी कथित माओवादियों ने दी है. इससे पहले 12 जून को भी छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित झीरम घाटी काण्ड की सुनवाई कर रहे एनआईए के जज एमडी कातुलकर को एक चिट्ठी फेंक कर धमकी दी गई थी.

एनआईए की विशेष अदालत के जज एमडी कातुलकर झीरम मामले की सुनवाई कर रहे हैं. 25 मई 2013 को झीरम घाटी में माओवादियों ने हमला कर के कांग्रेस के वरिष्ठ नेता महेंद्र कर्मा, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार पटेल, विद्याचरण शुक्ल समेत 30 लोगों की हत्या कर दी गई थी. इस हमले में शामिल आरोपियों की सुनवाई बिलासपुर में कातुलकर की अदालत में चल रही है.

पुलिस ने आरंभिक जांच के बाद माना था कि जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया गया है, उससे लगता नहीं है कि यह माओवादियों की चिठ्ठी है. ताज़ा चिट्ठी की जांच चल रही है और माना जा रहा है कि यह चिट्ठी भी उसी व्यक्ति ने लिखी होगी, जिसने 12 जून को चिठ्ठी लिखी थी.

यह लिखा है चिट्ठी में
24 अगस्त को कातुलकर के घर पर फेंकी गई चिट्ठी में लिखा गया है कि-“‘अब तू समझ गया होगा पुलिस के कुत्ते तेरा कोई साथ नहीं देंगे, तूने बस्तर में चेनसी, उदल जैसे जाने कितने क्रांतिकारी कार्यकर्ताओं को जेल भेजा है. जिसकी सजा तुझे भुगतनी ही होगी. उन्हें जेल भेजकर तू अपने आपको तीसमार खां समझ रहा होगा, हम उसका भी प्रतिशोध लेंगे. झीरम मामले को सुनवाई के लिए जगदलपुर भेज दे या यहां से चला जा. नहीं तो तू अदालत से घर जिंदा नहीं पहुंचेगा. और तेरे परिवार को भी हम कुत्ते की मौत मारेंगे. तुझे और तेरे परिवार को जलाकर राख करके ऐसा उदाहरण रखेंगे कि कोई भी जज हमारे खिलाफ नहीं आएगा.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *