कांकेर में सूख रहे हैं जलस्त्रोत

कांकेर | संवाददाता: कम बारिश की वजह से शहर के जल स्त्रोत सूखने लगे हैं. पहले बारिश के पानी से भरने वाले तालाब अब सूखने लगे हैं. यदि ऐसा ही चलता रहा तो वर्ष भर पानी की किल्लत का सामना करना पड़ेगा. शहरविसीयों का कहना है कि भूजल का स्तर भी गिरने लगा है.

वास्तव में वर्षा के पानी से भूजल का स्तर बना रहता है परन्तु इस साल कम बारिश होने से भूजल का स्तर लगातार गिर रहा है. जिससे कुओं तथा बोर में भी पानी की कमी हो रही है. कुछ बोर तो सूख गयें हैं तथा कुछ में बड़ी मेहनत करने के बाद पानी की कुछ मात्रा निकल आती है.

शहर के टिकरापारा स्थिति तालाब, कलेक्टोरेट स्थित तालाब, भंडारीपारा तालाब, संजय नगर तालाब सहित अन्य तालाबों में भी बहुत कम पानी बचा है. इसी प्रकार शहर के मध्य से गुजरने वाली दूध नदी अब भी सूखी पड़ी है. हर वर्ष सावन के माह में दूध नदी में एक-दो बार बाढ़ आ जाया करता था, लेकिन इस वर्ष दूध नदी अब तक सूखी पड़ी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *