कोरबा: हुक्का बार का भंडाफोड़

कोरबा | अब्दुल असलम: छत्तीसगढ़ के कोरबा के पाश इलाके में पिछले एक साल से अवैध हुक्का बार का संचालन किया जा रहा था. गुरूवार को पुलिस ने जब चाय की दुकान में चल रहे कथित अवैध हुक्काबार में छापामार कार्रवाई की तो उसके पैरों तले ज़मीन खिसक गई. यहां नशा करने वालों में नाबालिग तक शामिल मिले. निहारिका क्षेत्र में दूसरा हुक्काबार में पुलिस की दबिश ने बिगड़ते युवाओ पूरी कहानी सामने आ गयी .

एसईसीएल कोरबा के आवासीय परिसर जयप्रकाश कालोनी में निवासरत राजेंद्र सिंह राजपूत पिछले 1 साल से घंटाघर के पास किराए की दुकान लेकर द चाय बार का संचालन कर थे. राजेन्द्र की चाय दुकान केवल नाम मात्र की ही चाय दुकान थी जबकि इसकी आड़ में उसने अवैध हुक्का बार खोल रखा था. जहां अमीर घरानों की बिगड़ी औलाद अपनी नशे की लत को पूरा किया करते थे.


कोरबा पुलिस को लगातार इस संबंध में शिकायत मिल रही थी लेकिन कभी सबूत का अभाव तो कभी सूचना में कमी हमेशा उसकी कार्रवाई के आड़े आती रही. गुरूवार की सुबह पुलिस ने मुखबिर से मिली पुख्ता सूचना के आधार पर द चाय बार में छापा मारा. दुकान के भीतर आते ही पुलिस को मौके पर 4 नाबालिग नशा करते मिले. पुलिस ने जब दुकान की तलाशी ली तो उसे यहां करीब दो बड़े कॉर्टून में हुक्का, चिलम, हुक्का में उपयोग किया जाने वाला पावडर, देशी विदेशी सिगरेट मिला.

इधर घंटाघर में कार्रवाई के बाद पुलिस ने मौके से थोड़ी ही दूरी पर संचालित सोनी डेली नीड्स में भी छापेमार कार्रवाई की. पुलिस को यहां से भी चिलम, देशी- विदेशी सिगरेट व अन्य आपत्तिजनक नशीली सामग्री बरामद की गई. पुलिस ने दोनो स्थानों से 5 नाबालिगों को नशा करते हुए रंगे हाथों पकड़ा. साथ ही मौके से 6 बाईक भी जब्त की गई है.

पुलिस की माने तो नशा करने वालों में युवा और नाबालिगों के अलावा लड़किया भी शामिल है. एके-47, पिस्टल जैसे कई आकर्षक लाइटर हथियारों की शक्ल में इन अवैध् हुक्का बारों में युवाओ को आकर्षित कर रहे है. पुलिस ने मौके से पकडे गए किषोरो को उनके अभिभावकों की उपस्थिति में समझाईश देकर छोड़ दिया है.

पुलिस ने फौरी तौर पर मामले में प्रतिबंद्धात्मक कार्रवाई की है, लेकिन पूरे मामले की जांच के लिए पुलिस ने जप्त साम्रागी को एफएलसी रायपुर जांच के लिए भेजा है. वहां से मादक पदार्थ की पुष्टि होते ही पुलिस मामले में एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई करेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!