तंत्र-मंत्र के नाम पर महिला को मारने वाले 7 को उम्रकैद

कोरबा | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के कोरबा में तंत्र-मंत्र के चक्कर में महिला की हत्या करने वाले 7 लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है. इस बहुचर्चित हत्याकांड में आरोपियों ने बैगा के साथ मिल कर अपने ही परिजन महिला को मार डाला था.

पुलिस के अनुसार घटना पिछले साल 30 मार्च की है. जांजगीर-चांपा जिले के बम्हनीडीह गांव के निवासी छतराम भारद्वाज का पुत्र मनमोहन पिछले कुछ दिनों से बीमार था. बीमारी से निजात दिलाने के लिये उसके परिजन उसे झाड़-फूंक कराने के लिए बालको थाना के रूगमड़ा गांव स्थित एक घर में ले गए. मनमोहन के साथ उसकी मां बदराबाई, बहन कचरा बाई और छह अन्य व्यक्ति भी वहां मौजूद थे. इनमें दो बैगा मिलन औऱ दरशराम ने भूत-प्रेत का हवाला देकर सबको अगरबत्तियों से जलाया.

इसके बाद बैगाओं ने कचराबाई के बाल को पकड़ कर उसके सिर को जमीन में पटक-पटक कर लहुलूहान कर दिया. बैगाओं ने इसके आलावा तीन लोगों को घर में ही बंधक बना लिया था. सुबह पड़ोसियों ने जब हस्तक्षेप किया तो बैगा उन्हें छोड़ कर भाग गये. बाद में पुलिस ने कचराबाई समेत चार लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां कचराबाई की मौत हो गई.

इस मामले की सुनवाई करते हुये कोरबा के जिला एवं सत्र न्यायालय ने गणेशराम और उसकी पत्नी भगवती, छतराम और उसकी पत्नी बदराबाई, मिलन, सौपत और दरसराम को कचराबाई की हत्या का दोषी पाया और उन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *