कुंवर बाई को वापस मिली बकरियां

धमतरी | समाचार डेस्क: बकरियां बेचकर शौचालय बनवाने वाली 104 साल की कुंवर बाई को सरकार ने 11 बकरियां प्रदान की है. उल्लेखनीय है कि 104 साल की उम्रदराज महिला श्रीमती कुंवर बाई ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत अपने घर में सबसे पहले शौचालय बनाया. इसके लिए अपने जीविकोपार्जन के साधन बकरियों को बेचना पड़ा था.

बाद में उन्होंने अन्य ग्रामीणों को भी प्रोत्साहित किया और अंततः कोटाभर्री को 15 जुलाई 2015 को ओ.डी.एफ. ग्राम घोषित किया गया. उनकी इस पहल से धमतरी जिले को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली.


तीन माह पहले प्रधानमंत्री मोदी ने 21 फरवरी को राजनांदगांव के ग्राम कुर्रूभाठ में आयोजित कार्यक्रम में कुंवर बाई के पैर छूकर आशीर्वाद लिया तथा उन्हें स्वच्छता दूत निरूपित किया.

स्वच्छ भारत मिशन की ब्राण्ड एम्बेसेडर बन चुकीं श्रीमती कुंवर बाई को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मंशानुसार एक लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई तथा उनके घर में मनरेगा मद से 50 हजार रूपए का बकरी शेड निर्माण कराकर उन्हें हस्तांतरित किया गया.

इसी तारतम्य में मुख्यमंत्री के निर्देश पर अमल करते हुए जिला प्रशासन द्वारा 11 बकरियां पशुधन विकास विभाग द्वारा दी गईं. विभाग के उप संचालक डॉ. पी.के. मरकाम ने बताया कि श्रीमती कुंवर बाई को देशी नस्ल की 10 बकरियां एवं सिरोही नस्ल का एक ग्रेडेड बकरा सम्मान के तौर पर दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!