छत्तीसगढ़ की वकील ने सुप्रीम कोर्ट में खाया ज़हर

बिलासपुर | संवाददाता: बिलासपुर की एक वकील ने आज सुप्रीम कोर्ट में आत्महत्या करने की कोशिश की. सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जैसे ही अपनी कोर्ट से उठने को हुए, एक महिला वकील ने अपील कर सनसनी फैला दी. महिला वकील ने अपने साथ हुए गैंगरेप का आरोप लगाया और कार्रवाई न होने पर क्षुब्ध होकर फिनाइल की टैबलेट कोर्ट में ही खा ली.

महिला को तुरंत अस्पताल भेजने की व्यवस्था की गई और कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेते हुए मामले की सुनवाई करने का फैसला किया और कल इस मामले को कोर्ट देखेगी. सुप्रीम कोर्ट ने एक अन्य महिला वकील को पीड़िता की मदद करने को कहा है.

गौरतलब है कि बिलासपुर के तिलकनगर की यह महिला वकील अपने पति से अलग रहती हैं. महिला ने सिविल लाइन थाने में धारा 498 के तहत अपने ससुराल वालों के खिलाफ प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था. महिला का आरोप है कि पिछले साल 29 नंवबर को महिला वकील के जेठ राकेश श्रीवास्तव, उसका बेटा अंशुल श्रीवास्तव व एक अन्य व्यक्ति राजकुमार शर्मा रायपुर से पहुंचे औऱ उन्होंने महिला के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया.

महिला वकील ने इस मामले में अगले दिन 376 घ, 452, 506 एवं 323,34 के तहत मामला दर्ज करवाया था लेकिन पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की. इससे क्षुब्ध हो कर महिला ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में पहुंच कर आत्महत्या की कोशिश की.

फिलहाल महिला की हालत खतरे से बाहर है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *