छत्तीसगढ़: मैरिज एजेंसी कठघरे में

दुर्ग | संवाददाता: ‘बड़े घर’ में शादी कराने वाली मैरिज एजेंसी को पैसे वापस करने कहा गया है. छत्तीसगढ़ के दुर्ग के जिला उपभोक्ता फोरम ने आभिजात्य वर्ग में शादी कराने का दावा करने वाली दिल्ली की साइकोरियन मेट्रिमेनियल सर्विसेस लिमिटेड को भिलाई की नीरा खंडूजा को ब्याज सहित 3.50 लाख रुपये लौटाने का आदेश दिया है.

छत्तीसगढ़ के भिलाई की रहने वाली नीरी खंडूजा ने दिल्ली की इस मैरिज एजेंसी को अपनी पुत्री के विवाह के लिये सुयोग्य वर तलाशने के लिये उनकी फीस 3.50 लाख रुपये दिये थे. परन्तु मैरिज एजेंसी ने कोई कार्यवाही नहीं की और न ही वर संबंधी जानकारी उपलब्ध करवाई. इसके बाद नीरा खंडूजा ने दुर्ग के उपभोक्ता फोरम में मामला दर्ज करवाया.


दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद जिला उपभोक्ता फोरम की अध्यक्ष मैत्रेयी माथुर ने साईकोरियन मेट्रिमेनियल सर्विसेस लिमिटेड को ब्याज सहित 3.50 हजार रुपये लौटाने के निर्देश दिया हैं.

ऑफलाइन मैरिज एजेंसी चलाने वाली यह एजेंसी आभिजात्य वर्ग में शादी करवाने का दावा करती है. इसके लिये इनके पास तरह-तरह के पैकेज हैं. जिनमें बेसिक पैकेज, मीटिंग पैकेज, कॉन्फिडेनशियल पैकेज, प्रीमियम पैकेज तथा एक्सक्लुसिव पैकेज हैं.

इस कंपनी का दिल्ली के सफदरगंज एनक्लेव तथा मुंबई के जुहू तारा रोड पर दफ्तर है. अपने विज्ञापन में यह साईकोरियन मेट्रिमेनियल सर्विसेस लिमिटेड नाम की कंपनी जैनों, ब्राम्हणों, राजपूतो, कायस्थो, बंगाली, ओड़िया, मारवाड़ी, पंजाबी, सुन्नी तथा शिया मुस्लिम तथा हाई प्रोफाइल आभिजात्य वर्ग में शादी करवाने का दावा करती है.

यह कंपनी सोशल मीडिया के जरिये भी अपना प्रचार करती है.

साईकोरियन का प्रचार ऐसे होता है-
Sycorian Matrimonial Services Ltd.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!