पारा 43 पार, स्कूलों में अवकाश हो

रायपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ में पड़ रही भीषण गर्मी के मद्देनज़र नेता प्रतिपक्ष ने स्कूलों में अवकाश की मांग की है. छत्तीसगढ़ में राजधानी सहित पूरे प्रदेश में पड़ रही भीषण गर्मी को देखते हुए टी.एस. सिंहदेव ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को पत्र लिखकर तत्काल स्कूलों में अवकाश घोषित करने की मांग की है.

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में नेता प्रतिपक्ष ने मौसम वैज्ञानिकों व विशेषज्ञों द्वारा तापमान में और बढ़ोतरी की संभावना का हवाला देते हुए कहा है कि प्रदेश में तापमान लगातार 43 डिग्री पार कर रहा है. ऐसी स्थिति में स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है.


छत्तीसगढ़ के नेता प्रतिपक्ष के अनुसार, उनके पास शिक्षा, स्वास्थ्य के साथ-साथ पालकों, अभिभावकों के मत भी आ रहे हैं कि गर्मी को देखते हुए स्कूलों को तत्काल बंद करना उचित होगा.

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में प्रदेश इन दिनों भीषण गर्मी की चपेट में है. दिन का पारा लगातार बढ़ता जा रहा है, वहीं रात में लोगों को राहत नहीं मिल पा रही है.

कृषि वैज्ञानिक डॉ. एएसआर शास्त्री ने बताया कि 35 साल बाद शनिवार (16 अप्रैल) को रायपुर में तापमान सर्वाधिक दर्ज किया गया. 1981 में 16 अप्रैल को अधिकतम तापमान 43.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, वहीं शनिवार को बिलासपुर में पारा 44.7 डिग्री दर्ज किया गया.

गांवों-कस्बों और शहरी क्षेत्र में वैवाहिक कार्यक्रम होने के बाद भी सड़क में कोई खास हलचल देखने को नहीं मिला है. सुबह 10-11 बजे से शाम 4-5 बजे तक घर से में कैद होने के बाद शाम ढलने पिर सूरज की तपन कम होने घर से निकलने की हिम्मत जुटा पा रहे हैं. गर्म हवा के थपेड़ों के साथ समूचा प्रदेश लू की चपेट में है.

छत्तीसगढ़ में भीषण गर्मी-
राज्य में रविवार के राजधानी रायपुर में पारा 42.5, अंबिकापुर में 41.2, बिलासपुर में 43.4, पेन्ड्रारोड में 41.3 तथा जगदलपुर में 41 डिग्री था.

राज्य में पारा 17 अप्रैल से 23 अप्रैल तक निम्न रहने की संभावना मौसम विभाग ने व्यक्त की है.
रायपुर 40-40
पेन्ड्ररोड 40-40
दुर्ग 40-40
जगदलपुर 40-40
अंबिकापुर 40-40
बिलासपुर 40-40

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!