छत्तीसगढ़: दुकान नहीं, पीना बंद करे

बिलासुपर | समाचार डेस्क: मंत्री रमशीला साहू ने कहा है लोग शराब पीना बंद कर दे दुकाने बंद हो जायेंगी. छत्तीसगढ़ की महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू का कहना है अन्य राज्यों की तरह यहां पूर्ण शराबबंदी संभव नहीं है, लोग शराब पीना बंद कर दे शराब की दुकाने अपने आप बंद हो जायेगी. उन्होंने यह भी बताया कि छत्तीसगढ़ सरकार ने शराब के दुकानों में कमी की है.

इस साल का छत्तीसगढ़ सरकार का लोक सुराज अभियान मंत्रियों के बयानों को लेकर ज्यादा चर्चा में है. पहले पंचायत मंत्री अजय चंद्राकर की डांट डपट को लेकर विवाद हुआ तो एक दिन पहले शिक्षा मंत्री केदार कश्यप महिलाओं के मेकअप पर बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया. अब रमशीला साहू ने शराब बंदी को लेकर बेतुका बयान दे दिया है.


महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू से पूछे गये एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि लोग पीना छोड़ देगें तो शराब की दुकाने ऐसे ही बंद हो जाएगी. इसके लिए समाज के लोगों को सामने आना चाहिए. रही बात शराब दुकाने बंद करने की तो दो साल पहले सरकार ने प्रदेश में बहुत से शराब की दुकानों को बंद करा चुकी है. इससे इन क्षेत्रों में पीने वालों की संख्या कम हुई है. लेकिन अन्य प्रदेशों की तरह पूरे प्रदेश में एक साथ शराबबंदी करना संभव नहीं है. इससे कई तरह की व्यावहारिक दिक्कत आएगी.

अधिकारियों की बैठक लेने के बाद मंथन में पत्रकारों से चर्चा करने के बाद मंत्री श्रीमती साहू ने कहा कि शासन प्रदेश से कुपोषण को जड़ से समाप्त करना चाहती है. पहले इस प्रदेश में कुपोषण की दर 47 फीसदी थी जो अब घटकर 30 फीसदी हो गई है. सरकार की योजनाओं के कारण ही कुपोषण कम हो रहा है.

उन्होने बताया कि इसे जड़ से समाप्त करने के लिए सरकार ने महतारी जतन योजना शुरू की है जिसमें हर गांव की गर्भवती महिलाओं को अब गरम भोजन दिया जाएगा. यही नहीं तीन से 6 साल के बच्चों को सप्ताह में एक दिन मीठा दूध दिया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!