नन्ही रीचा की मुस्कान लौटी

मुंगेली | संवाददाता: छत्तीसगढ़ शासन द्वारा संचालित मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना से मासूम बच्चों को नई जिंदगी मिल रही हैं तथा घरों में किलकारी भी गूंजने लगी हैं. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बाल हृदय सुरक्षा योजना संचालित कर बुझे हुए चेहरे पर मुस्कान लौटा दी हैं. इसी कड़ी में मुंगेली जिले के ग्राम बरेला के श्रीचंद शर्मा की नन्ही बालिका रीचा का बचपन से दिल में छेद था.

छत्तीसगढ़ के मुंगेली के ग्राम बरेला की कु. रीचा के चाचा ने बताया कि स्वास्थ्य खराब होने पर पहले रायगढ़ के डॉक्टर के पास ले गये. जांच के बाद चिकित्सक ने दिल में छेद होने की बात कहीं. कुछ दिनों के पश्चात रायपुर की महिला चिकित्सक के पास ईलाज हेतु ले गये. जांच के उपरांत दिल में छेद होने की जानकारी दी गई. दिल में सुराक होने की जानकारी मिलने से चिंतित हो गये कि एक साल की छोटी बच्ची की ईलाज कैसे कराएं.


मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना के तहत आपरेशन हेतु सहायता दिये जाने की जानकारी मिली फिर जरहागांव स्वास्थ्य केंद्र में फार्म भरा गया. उन्होने बताया कि प्रकरण स्वीकृत होने के बाद सूचना मिलने पर कु. रीचा को 17 जनवरी 2014 को आपरेशन हेतु रामकृष्ण केयर अस्पताल रायपुर ले गये. फिर चिकित्सकों द्वारा दिल में छेद का आपरेशन किया गया.

रीचा की आपरेशन हो जाने के बाद अब बिलकुल स्वस्थ हैं तथा घर में किलकारी गूंज रही हैं. यह सब मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना से संभव हो सका हैं. इस योजना से सहायता मिलने से रीचा की मुस्कान वापस लौट गई हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!