‘न पैसा खायेगी न खाने देगी’

रायपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के दौरे पर आये नायडु ने कहा मोदी सरकार ‘न पैसा खायेगी न खाने देगी’. केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने गुरुवार को कहा कि सरकार के मुखिया का नारा है, ‘न खाऊंगा, न खाने दूंगा.’ कुछ लोग शिकायत करते हैं कि एक साल हो गया और केंद्र सरकार ने कुछ नहीं किया, ये वे लोग हैं, जिन्होंने पिछले 50 साल तक बिचौलियों का काम किया है.

वेंकैया ने भिलाई के सेक्टर-1 स्थित नेहरू सांस्कृतिक भवन में सिटी बस योजना का उद्घाटन किया और 20 मार्गो पर चलने वाली 40 बसों को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया.

सिटी बस योजना का शुभारंभ करते हुए नायडू ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह की प्रशंसा करते हुए कहा, “मैं भी गांव से हूं और सिंह भी गांव से हैं. शहर के साथ-साथ गांवों का विकास भी जरूरी है. गांव का विकास होगा तभी देश आगे बढ़ेगा.”

उन्होंने कहा कि रमन सिंह ऐसे मुख्यमंत्री हैं, जो हमेशा जनता के बीच रहते हैं. इसके कारण जनता से उनके अच्छे संबंध हैं. यह लोकप्रिय नेता की पहचान होती है. “छत्तीसगढ़ सरकार के काम से मैं बहुत प्रसन्न हूं. भारत सरकार अपनी विभिन्न योजनाओं के लिए जो पैसा भेजती है, उसे राज्य सरकार बहुत अच्छी तरह से जनता तक पहुंचा रही है.”

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने 37.5 करोड़ रुपये दिए हैं. इससे 115 बसें दुर्ग-भिलाई के लिए खरीदने का ठेका दिया गया है. यह भारत सरकार की योजना है.

नायडू ने यह भी कहा कि यहां से बहुत जल्द रायपुर हवाईअड्डा जाने के लिए एसी बस की व्यवस्था की जाएगी. उन्होंने साथ ही कहा कि केंद्र सरकार ने निम्नवर्गीय समुदाय के लोगों की पानी की समस्या के निदान के लिए 130 करोड़ रुपये की पेयजल योजना का शुभारंभ किया गया है.

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि कुछ लोग शिकायत करते हैं कि एक साल हो गया और क्या किया? ये वो लोग हैं, जिन्होंने पिछले 50 सालों तक बिचौलियों का काम किया है. उनका नारा था कि खुद खाओ और हमको भी खाने दो. लेकिन भारत में अब जो सरकार है उसके मुखिया का नारा है ‘न खाऊंगा, न खाने दूंगा.’

रमन सिंह ने कहा, “मुझसे पूछा जाता है कि प्रधानमंत्री के एक साल की उपलब्धि क्या है? मैंने कहा कि सबसे बड़ी उपलब्धि होती है देश का मान-सम्मान व इज्जत बढ़ाना, जो मोदी ने किया है.”

नायडू व रमन सिंह का ध्यान आकर्षित करते हुए प्रदेश के राजस्व मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय ने कहा कि भिलाई के कुछ क्षेत्रों में झुग्गियां भी हैं. अगर भिलाई इस्पात कारखाना के कब्जे से 10 एकड़ जमीन अगर मिल जाती तो राज्य की योजना के अनुसार 2-बीएचके के 5 हजार मकान यहां के झुग्गीवासियों को मिल सकते हैं.

इस पर नायडू ने कहा, “मैं दिल्ली जाकर इस्पात मंत्री नरेंद्र तोमर से चर्चा कर प्रयास करूंगा कि बीएसपी यह जमीन राज्य सरकार को दे दे.”

नायडू उसके बाद निगम प्रशासन द्वारा आयोजित जन कल्याण मेले में शामिल हुए, जहां उन्होंने 10 विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया.

इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री रमशीला साहू, संसदीय सचिव लाभचंद बाफना, विद्यारतन भसीन, अरुण वोरा व भिलाई की महापौर निर्मला यादव सहित अन्य भाजपा नेता उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *