पूर्व गृहमंत्री नरनारायण का निधन

अंबिकापुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर के निवासी अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व गृहमंत्री नरनारायण सिंह का बुधवार रात को को निधन हो गया. जनसंघ के जमाने में सरगुजा जिले में अपने बेबाक भाषणों के लिए चर्चित और 1977-78 में अविभाजित मध्यप्रदेश के गृहमंत्री रहे नरनारायण सिंह का 80 वर्ष की आयु में निधन हो गया. स्वास्थ्य खराब होने के बाद अंबिकापुर स्थित मिशन अस्पताल में उनका लंबे समय से इलाज चल रहा था.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने गुरुवार जारी शोक संदेश में कहा है कि सहज-सरल स्वभाव के स्वर्गीय नरनारायण सिंह ने विधायक और मंत्री के रूप में जनता को अपनी महत्वपूर्ण सेवाएं दी. डॉ. सिंह ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की.

उन्होंने सरगुजा संभाग में अपराध के मामलों में वकालत भी की. सिंह के निधन से सरगुजा में शोक छा गया है.

केदारपुर स्थित उनके निवासी पर अंतिम दर्शनों के लिए भीड़ उमड़ पड़ी है. नरनारायण सिंह अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के जिलाध्यक्ष भी रह चुके थे. उन्होंने वकालत के पेशे में भी ख्याति पाई.

स्वर्गीय नरनारायण सिंह को गुरुवार को उनके गृह नगर अम्बिकापुर स्थित मुक्तिधाम में राजकीय सम्मान के साथ अश्रुपूरित नेत्रों से अंतिम बिदाई दी गई. जिला और पुलिस प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों सहित बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिक इस मौके पर उपस्थित थे. सभी लोगों ने उनके दोनों पुत्रों हर्षवर्धन सिंह और राज्यवर्धन सिंह तथा अन्य परिजनों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की. राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार में स्वर्गीय नरनारायण सिंह को सशस्त्र पुलिस बल द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया और शस्त्र झुकाकर उनके प्रति सम्मान प्रकट किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *