छत्तीसगढ़: 102 थानों में नक्सल भत्ता

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों के 102 थानों में कार्यरत पुलिस बल को बढ़े हुए नक्सल क्षेत्र भत्ता का लाभ मिलेगा. इनमें बस्तर राजस्व संभाग के सात जिलों के 93 थाने और राजनांदगांव जिले के नौ थाने शामिल हैं. वहां पदस्थ पुलिस कर्मियों को 01 जुलाई 2015 से इसका फायदा मिलेगा. गृह विभाग द्वारा 09 अक्टूबर को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है.

विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में कार्यरत पुलिस बल को 50 फीसदी, संवेदनशील क्षेत्रों में कार्यरत पुलिस बल को 35 फीसदी एवं सामान्य नक्सल प्रभावित इलाके में काम कर रहे पुलिस बल को 15 प्रतिशत नक्सल क्षेत्र भत्ता दिया जाएगा. राज्य शासन के इस फैसले से वहां कठिन हालातों में काम कर रहे पुलिस बल के जवानों का मनोबल ऊंचा बनाए रखने में मदद मिलेगी. पूर्व में नक्सल क्षेत्र भत्ता के रूप में जवानों को मूल वेतन का 15 से 20 प्रतिशत मिलता था.


राज्य शासन के इस फैसले के दायरे में छत्तीसगढ़ के 102 थाने आएंगे. इनमें अतिसंवेदनशील क्षेत्रों के 46, संवेदनशील क्षेत्रों के 43 एवं सामान्य नक्सल प्रभावित इलाकों के 13 थाने शामिल हैं.

अतिसंवेदनशील थानों में बीजापुर जिले के 15 थाने गंगालूर, मिरतुर, फरसेगढ़, बेदरे, उसूर, भोपालपटनम, बासागुड़ा, तोयनार, आवापल्ली, मोदकापाल, मद्देड़, कुटरू, पामेड़, भद्राकाली एवं तरलागुड़ी, सुकमा जिले के 13 थाने पोलमपल्ली, एर्राबोर, कोंटा, मरईगुड़ा, गादीरास, दोरनापाल, पुशपाल, फुलबागड़ी, चिंतागुफा, जगरगुंडा, भेज्जी, किस्टाराम और गोलापल्ली, नारायणपुर जिले के छः थाने छोटे डोंगर, धौड़ाई, कुरूशनार, धनोरा, झाराघाटी तथा ओरछा, दंतेवाड़ा जिले के पांच थाने कुआंकोंडा, कटे कल्याण, भांसी, बारसुर और अरनपुर, कांकेर जिले के पांच थाने कोयलीबेड़ा, बांदे, परतापुर, गोंडाहुर और आमाबेड़ा तथा कोंडागांव जिले के दो थाने बयानार और मरदापाल शामिल हैं.

इन सभी थानों में तैनात पुलिस बल को मूल वेतन का 50 प्रतिशत नक्सल क्षेत्र भत्ता मिलेगा.

संवेदनशील क्षेत्रों के अंतर्गत कांकेर जिले के 12 थाने कोरर, भानुप्रतापपुर, पखांजूर, अंतागढ़, दुर्गकोंदल, बड़गांव, लोहत्तर, कोड़ेकुरसे, सिकसोद, कच्चे, ताडोकी तथा रावघाट, राजनांदगांव जिले के नौ थाने मदनवाड़ा, औंधी, मोहला, मानपुर, चिल्हाटी, खड़गांव, सीतागांव, कोहका और अंबागढ़-चौकी, बस्तर जिले के छः थाने कोडेनार, बड़ांजी, लोहंडीगुड़ा, बुरगुम, दरभा और मरदुम, दंतेवाड़ा जिले के पांच थाने गीदम, बचेली, किरंदुल, फरसपाल तथा दंतेवाड़ा, कोंडागांव जिले के चार थाने विश्रामपुरी, धनोरा, बड़े डोंगर एवं ईरागांव, बीजापुर जिले के चार थाने जांगला, नेलसनार, भैरमगढ़ एवं बीजापुर तथा सुकमा जिले के तीन थाने तोंगपाल, कुकनार और सुकमा शामिल हैं.

इन सभी थानों में कार्यरत पुलिस बल को 35 प्रतिशत नक्सल क्षेत्र भत्ता दिया जाएगा.

इसी तरह से सामान्य नक्सल प्रभावित क्षेत्र में 13 थानों को शामिल किया गया है. इनमें बस्तर जिले के छः थाने कोतवाली जगदलपुर, बोधघाट, परपा, नगरनार, करपावांड और भानपुरी, कोंडागांव जिले के चार थाने फरसगांव, केशकाल, माकड़ी एवं कोंडागांव, कांकेर जिले के तीन थाने चारामा, कांकेर और नरहरपुर शामिल हैं.

यहां पदस्थ पुलिस बल को मूल वेतन का 15 फीसदी नक्सल क्षेत्र भत्ता मिलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!