माओवादी हमले में 15 की मौत

रायपुर | बीबीसी: छत्तीसगढ़ में संदिग्ध माओवादियों के दो अलग-अलग हमलों में 15 लोगों के मारे जाने की खबर है. पहला हमला बीजापुर ज़िले में मतदान दल पर हुआ है, जिसमें 7 लोग मारे गये हैं. जबकि दूसरा हमला स्वास्थ्य विभाग के एंबुलेंस पर हुआ है, जिसमें सीआरपीएफ के 6 जवानों समेत 8 लोग मारे गये हैं.

पहला हमला बीजापुर में हुआ, जहां 10 अप्रैल को बस्तर में मतदान कराने के बाद मतदान दल जगदलपुर लौट रहा था.

पुलिस के प्रवक्ता दिपांशु काबरा के अनुसार “बीजापुर के थाना कुटरु अंतर्गत ग्राम केतुलनार के पास एक मतदान दल बस में बैठ कर लौट रहा था. एक तालाब के पास माओवादियों ने पहले से बम लगा रखा था, जिसकी चपेट में मतदान दल का वाहन आ गया.”

इस विस्फोट में अभी तक 7 लोगों के मारे जाने की खबर है. इसके अलावा कम से कम 12 लोग घायल हुये हैं.

पुलिस के अनुसार राजस्थान ट्रैवल्स की बस क्रमांक सीजी 17 के 0321 में दो मतदान के दल के लोग बेस कैंप से लौट रहे थे. 10 अप्रैल को इन मतदान दलों को मतदान के बाद पास के ही पुलिस कैंप में ठहराया गया था. उसके बाद आज दोपहर इन्हें जगदलपुर के लिये रवाना किया गया था.

इधर एक दूसरी घटना में दरभा के पास स्वास्थ्य विभाग के एंबुलेंस संजीवनी 108 पर भी माओवादियों ने हमला किया है, जिसमें सीआरपीएफ के 6 जवान और एंबुलेंस के ड्राइवर व टेक्निशियन के मारे जाने की खबर है.

गौरतलब है कि 10 अप्रैल को बस्तर में लोकसभा का मतदान हुआ था. इस दौरान सात स्थानों पर माओवादियों ने गोलीबारी की थी और कुछ स्थानों पर आईईडी विस्फोट किए गए थे, जिसमें कुछ लोग घायल हुये थे.

बीजापुर, दंतेवाड़ा और सुकमा के कई इलाकों में सुरक्षाबल और माओवादियों के बीच मुठभेड़ की घटनाएं सामने आई थी. सुरक्षाबल ने दंतेवाड़ा और सुकमा में कई जगहों से विस्फोटक बरामद किये. इन इलाकों में कई जगहों पर माओवादियों ने सड़कों पर यातायात बाधित करने की कोशिश की. मतदान के लिये जो दल अलग-अलग इलाकों में गया था, उनकी वापसी का सिलसिला शनिवार को भी जारी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *