छत्तीसगढ़: जब्त 2 करोड़ का कोई दावेदार नहीं

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के दौरान जब्त किए गए दो करोड़ रुपये का अब तक कोई दावेदार सामने नहीं आया है. इससे स्पष्ट है कि ये दो करोड़ रुपये कालाधन थे.

निर्वाचन आयोग और आयकर विभाग की टीम ने राज्य में कुल 21 करोड़ रुपये जब्त किए थे. इनमें से करीब 19 करोड़ रुपये संबंधित लोग या तो ले जा चुके हैं या उन पर दावा कर चुके हैं, लेकिन दो करोड़ रुपये के मालिक कौन हैं, यह पता नहीं चल पा रहा है.

छत्तीसगढ़ आयकर विभाग के संयुक्त निदेशक और नोडल प्रभारी संजय कुमार ने बताया कि आईटी टीम 10 लाख रुपये या उससे ऊपर की नकदी और सामान को ही जब्त करती है. उन्होंने कहा, “विधानसभा चुनाव में भी हमने पांच करोड़ कैश और चार करोड़ की ज्वेलरी अकेले छत्तीसगढ़ से ही जब्त की थी. कुछ लोगों ने तो क्लेम कर टैक्स में एडजस्ट करा दिया, जबकि कुछ लोग क्लेम ही नहीं करने आए. ब्लैक मनी रहती है, इसलिए शायद डरते हैं.”

गौरतलब है कि रायपुर के एक उड़दस्ते ने रायपुर एयरपोर्ट के रास्ते से करीब 9 लाख रुपये से ज्यादा की राशि जब्त की थी. इसी तरह कई स्थानों से चुनाव आयोग ने अलग-अलग राशि जब्त की थी.

विधानसभा चुनाव में वोटरों को लुभाने के लिए पैसों और उपहारों का इस्तेमाल न हो, इसके लिए चुनाव आयोग ने नकद राशि की आवाजाही को जांचने और जब्त करने के निर्देश दिए हैं. इस दौरान प्रदेश भर से भारी भरकम नकद राशि और उपहार में बांटे जाने वाले सामान जब्त किए गए. लाखों रुपये कीमत की शराब और उपहार भी जब्त किए गए हैं, जिसे वोटरों के बीच बांटने के लिए ले जाया जा रहा था.

विधानसभा चुनाव में नकदी, शराब और उपहार में बांटी जाने वाली सामग्रियों पर नजर रखने के लिए आयोग ने करीब 662 टीम को मैदान में उतारा था, जो प्रदेश भर में इस पर नजर रख रही थी. इसमें करीब 241 उड़दस्ते, 233 सर्विलांस टीम, 88 एक्साइज टीम और 100 से अधिक पुलिस तथा आईटी विभाग की टीम शामिल थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *