छत्तीसगढ़: बाल अपराधियों का तांडव

दुर्ग | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ में दुर्ग के बाल सुधार गृह मे अपचारी बालको ने सोमवार को जबरदस्त तोड़फोड़ तथा तांडव किया. उन्होंने आरक्षक सहित तीन को चाकू मारा तथा कुछ समय के लिये बाल सुधार गृह पर कब्जा कर लिया. उसके बाद 64 अपचारी बालक फरार हो गये.

काफी माथापच्ची के बाद 13 अपचारी बालक पकड़े गये हैं. बाल सुधार गृह मे वारदात के दौरान पथराव एसपी अमरेश मिश्रा को भी पत्थर लगा. 51 बालक अभी भी फरार हैं जिनकी तलाश जारी है.

मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को किसी अपचारी का भाई उससे मिलने आया हुआ था जिसे पुलिस ने पकड़ लिया था. उसी के बाद अपचारी बालकों ने उत्पात मचाना शुरु कर दिया. उन्होंने दोपहर के तीन बजे मजिस्ट्रेट के साथ आये एक सिपाही पर धारदार चीज से हमला कर दिया.

अपचारी बालकों ने उन्हें समझाने आये बाल सुधार गृह के केयर टेकर तथा एक सामाजिक कार्यकर्ता पर भी शाम सात बजे हमला कर दिया.

उसके बाद अपचारी बालकों ने दरवाजे अंदर से बंद कर दिये तथा छत पर चढ़ गये. छत पर उन्होंने रसोई घर से गैस सिलेंडर लाकर रख दिया तथा उसे बम के समान नीचे फेंकने की धमकी देने लगे थे.

छत से अपचारी बालकों ने पुलिस तथा कैमरामैनों पर पत्थर भी फेंके.

दोपहर तीन बजे से शुरु हुआ हंगामा रात के बारह बजे तक चलता रहा. इस बीच 64 बाल अपराधी फरार हो गये.

मिली जानकारी के अनुसार अपचारी बालक नशा किये हुये थे. उनमें से 13 बच्चों को राजनांदगांव शिफ्ट करने का प्रशासन ने फैसला लिया है. इससे पहले इस तरह की घटना कभी सामने नहीं आई थी.

बाल सुधारगृह के बच्चों द्वारा फिल्मी स्टाइल में सुधार गृह पर कब्जा कर लेना, चाकूबाजी करना तथा पत्थरबाजी करना सकते में लाने वाला खबर है.

2 thoughts on “छत्तीसगढ़: बाल अपराधियों का तांडव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *