राजनीतिक दल दें पीपीपी मॉडल को बढ़ावा: एसोचैम

रायपुर | संवाददाता: एसोसिएटेड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया (ऐसोचैम) ने छत्तीसगढ़ की राजनीतिक पार्टियों को सुझाव दिया है कि वे अपने चुनावी घोषणा पत्र में पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मॉडल को बढ़ावा देने की बात करें.

एसोचैम का मानना है कि इसी मॉडल को अपना कर राज्य में उद्योगों को बढ़ावा दिया जा सकता है. एसोचैम ने भाजपा, कांग्रेस, बसपा, सपा जैसी राष्ट्रीय पार्टियों समेत स्थानीय दलों को सुझावों का एक दस्तावेज सौंपा है.


एसोचैम के राष्ट्रीय महासचिव डीएस रावत ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में कृषि क्षेत्र के विकास पर ध्यान देने के साथ-साथ बिजली, विनिर्माण, सेवा, खनन और रियल एस्टेट जैसे सेक्टरों में ज्यादा ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है.

उन्होंने इसके अलावा कृषि क्षेत्र से जुड़े खाद्य प्रसंस्करण, हर्बल उत्पाद, रत्न, कपड़ा, ऑटोमोबाइल तथा लघु व मध्यम इकाइयों के लिए विशेष ऑर्थिक क्षेत्र (एसईजैड) विकसित करने पर ध्यान देने पर भी जोर दिया है.

श्री रावत ने कहा है कि प्रदेश में कृषि आधारित उद्योंगे को बढ़ावा देने की आवश्यकता है. इसके साथ ही राज्य के परंपरागत उद्योंगों के पुनरुद्धार के लिए विशेष पैकेज दिए जाने का भी सुझाव दिया है. उन्होंने कहा कि राज्य में व्यापार के विकास के लिए राजनीतिक स्थिरता पर ध्यान दिया जाना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!