पड़ोसी राज्यों से आते हैं धान

महासमुंद | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में पड़ोसी राज्यों के किसान अपना धान बेचने चले आते हैं. पूरा खेल यहां के समर्थन का है जिसे पड़ोसी राज्यों के किसान हड़प कर जाते हैं. यह भी एक कारण है कि छत्तीसगढ़ में धान की खरीदी बढझ़ रही है जबकि रकबा कम होता जा रहा है.

इसीलिये महासमुंद के कलेक्टर उमेश कुमार अग्रवाल ने खरीफ सीजन 2014 के दौरान दूसरे राज्य से धान की आवक रोकने के लिए अधिकारियों को अभी से प्रभावी कदम उठाने के निर्देश दिए है.

मंगलवार को महासमुंद के जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित समय-सीमा बैठक के दौरान उन्होंने कृषि, सहकारिता एवं राजस्व अधिकारियों को चालू खरीफ सीजन के दौरान ओड़िशा के सीमावर्ती गांवों में किसानों की कृषि जमीन एवं उनके द्वारा बोया गया धान का रकबा का 25 अगस्त तक भौतिक सत्यापन करने के निर्देश दिए गए है.

इसके अलावा पड़ोसी राज्य से धान के अवैध परिवहन पर अंकुश लगाने के लिए महासमुंद जिले के सीमा में जरूरत पड़ने पर बेरियर स्थापित किया जाएगा. जिला प्रशासन द्वारा बीते खरीफ सीजन के धान का अवैध परिवहन करते पाए जाने पर धान सहित वाहन को राजसात किया गया था. उन्होंने जिले के 81 सहकारी समितियों के 122 धान खरीदी केन्द्रों में आवश्यकतानुरूप अधोसंरचना के निर्माण कार्य कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *