पत्रकारों के खिलाफ कार्टून पर हंगामा

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में पत्रकारों के खिलाफ बनाये गये कार्टून को लेकर विवाद शुरु हो गया है. इन कार्टून में पत्रकारों को माओवादियों का साथी बताया गया है. माना जा रहा है कि बस्तर की पुलिस ने ये कार्टून बनवाये हैं और उसे वाट्सऐप समेत दूसरे सोशल मीडिया में साझा किया है. इस मुद्दे पर मंगलवार को विधानसभा में भी हंगामा हुआ.

पत्रकारों का कहना है कि बस्तर के एक एडिशनल एसपी संतोष सिंह ने इसे सबसे पहले एक ग्रूप में साझा किया. जिसके बाद पत्रकारों के बीच यह कार्टून आया.


सोमवार को ही बस्तर में राज्य भर के पत्रकारों ने पुलिस प्रताड़ना के खिलाफ प्रदर्शन किया था. इसके बाद राज्य सरकार ने पत्रकारों के मामले में संवेदनशीलता के साथ व्यवहार करने का आश्वासन दिया था. इसके अलावा राज्य सरकार ने एक कमेटी बनाने की भी घोषणा की थी. लेकिन मंगलवार को इन कार्टूनों के सामने आने के बाद से पत्रकारों में रोष व्याप्त है.

राजधानी रायपुर में इस मुद्दे पर पत्रकारों ने बैठक की और मांग की है कि पुलिस ऐसे कार्टून बनाने वालों को तत्काल प्रभाव से गिरफ्तार करे.

इधर मंगलवार को विधानसभा में भी इस मुद्दे पर हंगामा हुआ. छत्तीसगढ़ विधानसभा में विधायक सत्यनारायण शर्मा ने यह मामला उठाया. उन्होंने कहा कि किसने ये कार्टून बनवाये हैं और किसने इन्हें पोस्ट किया है, इसकी जांच होनी चाहिए. उन्होंने आरोप लगाया कि सारा कुछ एक वरिष्ठ पुलिस अफसर के इशारे पर हो रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!