छत्तीसगढ़: वर्षा से सिंचाई जलाशय आधे भरे

रायपुर | संवाददाता: लगातार हो रही बारिश से छत्तीसगढ़ के सिंचाई जलाशय आधे भर गये हैं. बस्तर में भारी बारिश से गंगरेल बांध करीब 92 प्रतिशत भर गया है. वर्षा के कारण गंगरेल बांध में पानी की आवक लगातार जारी है. पिछले कुछ दिनों से हो रही अच्छी बरसात के फलस्वरूप छत्तीसगढ़ के 42 छोटे-बडे़ सिंचाई जलाशयों में जल स्तर बढ़ा है. अनेक जलाशय पूरी तरह भरने की स्थिति में आ गए हैं. जल संसाधन विभाग के अनुसार शनिवार सुबह की स्थिति में इन जलाशयों में औसत रूप से 49.45 प्रतिशत पानी का भराव है.

सभी जलाशयों में 3 हजार 99 मिलियन घन मीटर पानी भरा हुआ है, जबकि इनकी कुल जल भराव क्षमता 6 हजार 267 मिलियन घन मीटर की है.

प्रदेश के सबसे बड़े सिंचाई जलाशय मिनीमाता बांगो बांध 40.46 प्रतिशत, तांदुला जलाशय 25.34 प्रतिशत, दुधावा जलाशय 46.89 प्रतिशत, सिकासेर जलाशय 80.63 प्रतिशत, खारंग जलाशय 33.05 प्रतिशत, सोढूंर जलाशय 67.00 प्रतिशत, माड़मसिल्ली जलाशय 45.82 प्रतिशत, कोडार जलाशय 26.35 प्रतिशत, मनियारी जलाशय 59.96 प्रतिशत, खरखरा जलाशय 48.88 प्रतिशत, गोंदली जलाशय 21.27 प्रतिशत, परालकोट जलाशय 49.13 प्रतिशत, श्याम जलाशय 43.61 प्रतिशत, छिरपानी जलाशय 55.34 प्रतिशत, पिपरियानाला जलाशय 51.68 प्रतिशत, बल्लार जलाशय 16.35 प्रतिशत, सुतियापाट जलाशय 85.30 प्रतिशत तथा मोंगरा बैराज जलाशय 67.27 प्रतिशत भरा है.

इसी प्रकार मरोदा जलाशय में क्षमता का 54.94 प्रतिशत, सरोदा जलाशय में 32.67 प्रतिशत, घोंघा जलाशय में 45.68 प्रतिशत, मटियामोती जलाशय में 32.78 प्रतिशत, झुमका जलाशय में 59.56 प्रतिशत, गेजटेंक जलाशय में 25.67 प्रतिशत, खम्हारपाकुट जलाशय में 79.04 प्रतिशत, केशवा जलाशय में 9.94 प्रतिशत, कर्रानाला जलाशय में 57.60 प्रतिशत, बांकी जलाशय में 25.13 प्रतिशत, केदारनाला जलाशय में 46.24 प्रतिशत, किनकारीनाला जलाशय में 26.43 प्रतिशत, कुवंरपुर जलाशय में 33.03 प्रतिशत, बेहारखार जलाशय में 63.97 प्रतिशत, खपरी जलाशय में 49.32 प्रतिशत, कुम्हारी जलाशय में 14.36 प्रतिशत, बमई जलाशय में 29.33 प्रतिशत, पेंड्रावन जलाशय में 33.56 प्रतिशत, रूसे जलाशय में 15.90 प्रतिशत, पुटकानाला जलाशय में 36.01 प्रतिशत, मयाना जलाशय में 33.21 प्रतिशत तथा धारा जलाशय में क्षमता का 29.72 प्रतिशत जल भराव हो गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *