छग में जुटेंगे देश के शिशु रोग विशेषज्ञ

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के रायपुर में आगामी 20-21 सितम्बर को संक्रामक रोगों पर राष्ट्रीय सम्मलेन होगा. देश में बढ़ते शिशु रोगों का निदान खोजने हेतु आपसी संवाद और जानकारी के आदान-प्रदान करने के लिहाज से एक राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन, आगामी 20-21 सितम्बर को राजधानी रायपुर में किया जा रहा है. बहुप्रतीक्षित कार्यशाला का आयोजन इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स की रायपुर शाखा, छत्तीसगढ़ शिशु अकादमी तथा मेडिकल कॉलेज का पीडियाट्रिक्स विभाग मिलकर कर रहा है.

आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉ. रविन्द्र साराभाई, सचिव डॉ. अनूप वर्मा तथा अकादमी के अध्यक्ष डॉ. जयेश कावडिय़ा ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ में पहली बार हो रहे इस आयोजन में देशभर के 300 से ज्यादा डॉक्टर यानि शिशु रोग विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे तथा नये रिसर्च और अनुभवों पर आधारित विचार-विमर्श कर शिशु रोगों की काट निकालने का प्रयास करेंगे. 19 सितम्बर को राज्य स्तरीय कांफ्रेंस होगी जिसमें शिशु रोग विशेषज्ञ शामिल होंगे.


इसी दिन शाम को राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन, भारतीय शिशु अकादमी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. बी.एन. येवले के मुख्य आतिथ्य में तथा पद्मश्री डॉ. ए.टी. दाबके के विशेष आतिथ्य में होगा. आयोजकत्रय ने कार्यशाला की महत्ता समझाते हुए बताया कि शिशुओं के संक्रामक रोगों से निबटने के लिए देशभर के डॉक्टर कई तरह के शोध कर रहे हैं साथ ही शिशु रोग विशेषज्ञों के अपने अनुभव भी होते हैं.

यह राष्ट्रीय सम्मेलन एक मंच होगा जिसमें देशभर से आए डॉक्टर आपसी संवाद के जरिए शिशु रोगों के निदान पर चर्चा कर किसी निष्कर्श पर पहुंच सकेंगे, खासतौर पर टीबी यानि क्षय रोग, रेबिज तथा टीकाकरण के लिए विशेष सत्र रखा गया है.

इस अवसर पर एंटीबायटिक पर एक कार्टून प्रदर्शनी भी रखी गई है जिसमें 60 से ज्यादा कार्टूनिस्टों ने हिस्सा लिया है. सम्मेलन में विशेष तौर पर नई दिल्ली से डॉ. चितकारा, अहमदाबाद से डॉ. अभय शाह, कोलकाता से डॉ. जयदीप मुखर्जी, गुजरात से डॉ. बलदेव प्रजापति एवं मुंबई से डॉ. रोहित अग्रवाल तथा मैसूर से डॉ. नारायणप्पा शामिल हो रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!