आलू ने बिगाड़ा गृहणियों का बजट

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में प्याज के बाद अब आलू ने भी आम लोगों का जायका बिगाड़ दिया है. सूबे में बीते कई माह से सब्जियों की महंगाई की मार झेल रहे आम उपभोक्ताओं को अब प्याज के साथ-साथ आलू भी काफी मंहगी दर पर खरीदनी पड़ रही है. इसका सीधा असर उपभोक्ताओं के बजट पर पड़ रहा है.

15 रुपये प्रति किलोग्राम बिकने वाला आलू इन दिनों 22 से 25 रुपये प्रति किलोग्राम हो गया है. इन दिनों मौसम की बेरुखी व बारिश के चलते स्थानीय बाड़ियों की सब्जी खराब हो चुकी है, जिसके कारण किसी भी सब्जी का भाव बाजार में 40 रुपये प्रति किलोग्राम से नीचे नहीं रह गया है. ऐसे में लोग आलू से ही काम चला रहे थे.

आलू के संबंध में राजधानी के थोक व्यवसायी राजू पटेल का कहना है कि बाहर से आने वाला आलू वहीं से थोक में 15.16 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से आ रहा है. वहीं अभी आलू की नई फसल के आने में डेढ़ से दो माह की देरी है. तब तक आम उपभोक्ताओं को महंगे भाव में ही आलू की खरीदी करनी पड़ेगी. आवक यदि और कम हुई तो भाव 30 रुपये प्रति किलोग्रामतक भी जा सकता है.

राजधानी रायपुर की गृहिणी रीता यादव कहती हैं कि बाजार में सबसे सस्ती सब्जी के रूप में लौकी, कुंदरू व बैंगन हैं, जो 30 से 40 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बिक रहे हैं. इसके अलावा अन्य सब्जियों में गोभी 60 से 80 रुपये किलोग्राम, पत्ता गोभी 30 से 40 रुपये जबकि धनिया पत्ती 200 से 250 रुपये प्रति किलोग्राम की दर पर बिक रही है.

बहरहाल प्याज के बाद अब आलू की कीमतों में अचानक आई महंगाई ने पहले से ही महंगाई की मार झेल रहे गरीबों की कमर ही तोड़ कर रख दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *