एक ही दिन निकले दर्जनभर जहरीले सांप!

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पॉश इलाकों में मंगलवार को दर्जन भर बड़े सांप पकड़े गए. इनमें सात तो जहरीले करैत सांप थे. वे किसी को नुकसान पहुंचा पाते उससे पहले ही उनको पकड़ लिया गया. पिछले दिनों जब से बारिश तेज हुई है तब से शहर के विभिन्न इलाकों में बड़ी संख्या में सांप पकड़े जा रहे हैं.

महीने भर में ही सांपों के काटने से 10 लोगों की मौत हो चुकी है. इस तरह सांपों के बाहर आने से लोग परेशान हैं और कुछ हद तक उनमें भय भी है. सूबे में कई जगहों से इस तरह की खबरें रोजाना आ रही हैं.

मंगलवार को छत्तीसगढ़ के राजधानी रायपुर के प्रेस क्लब, शंकर नगर, कुशालपुर व प्रोफेसर कॉलोनी में भी सांप पकड़े गए. डब्लूआरएस कालोनी में डीआरएम राजीव सक्सेना के बंगले से भी सांप निकला. शहर के डब्लूआरएस, माना, रायपुरा, डीडी नगर, कोटा कॉलोनी से लेकर टिकरापारा और पंडरी इलाके में सबसे ज्यादा सांप निकल रहे हैं. मंगलवार को रायपुरा इलाके में सबसे अधिक खलबली मची. जहां पर जगदीश साहू के घर में काले रंग का कोबरा निकल आया.

इस सांप पर घर वालों की नजर पड़ी और लोगों ने उसको भगाने का प्रयास किया तो वह फन उठाकर फुंफकारने लगा. पास में खेल रही बच्ची को वहां से हटाकर घर वाले बाहर निकल आए. आसपास के लोग इकट्ठा हुए. उसके बाद सांप पकड़ने वाले नोवा-नेचर के लोगों को बुलाया गया. करीब डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद सांप को सुरक्षित पकड़ लिया गया.

बाद में परिवार ने राहत की सांस ली. इतना ही नहीं आसपास के लोग भी किसी सांप के होने की आशंका के बाद चैन से नहीं रहे. यह हाल शहर के लगभग आधे इलाकों का है. मंगलवार को सोसाइटी के सदस्यों ने नौ सांप पकड़े.

नोवा नेचर वेलफेयर सोसाइटी के सचिव मोइज अहमद ने कहा कि पिछले पांच दिनों में ही हमारी संस्था ने शहर में 35 से अधिक सांप पकड़े हैं. माना के निमोरा में रहने वाले डॉ. डीएस बल के परिवार ने अब तक 40 से ज्यादा जहरीले सांप पकड़े हैं. आधे सांपों को वे घर पर ही रखे हुए हैं. सांप पकड़ने के लिए शहर के विभिन्न इलाकों से रोज उनकी टीम को कई फोन आ रहे हैं.

अंबेडकर अस्पताल में रोजाना सर्पदंश के शिकार आठ से 10 मरीज इलाज कराने आ रहे हैं. निजी अस्पतालों में भी मरीज पहुंच रहे हैं. विशेषज्ञों के अनुसार सर्पदंश के बाद घबराने के बजाय हिम्मत से काम लेना चाहिए. कुछ सावधानी अपनाकर गंभीर घटनाओं से बचा जा सकता है.

विशेषज्ञों के अनुसार बारिश का मौसम सांप काटने की दृष्टि से खतरनाक है. सांप काटने की घटना ज्यादातर बारिश के सीजन में ही होती है. विशेषज्ञ इसकी वजह बिलों में नमी व पानी घुसने की वजह बताते हैं. पानी की वजह से सांप सुरक्षित ठिकाना ढूंढ़ते हैं और मैदान व घर में घुस जाते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *