पॉकेटमार है रमन सरकार: हरिप्रसाद

अंबिकापुर | संवाददाता: कांग्रेस महासचिव व छत्तीसगढ़ प्रभारी बी.के.हरिप्रसाद का कहना है कि छत्तीसगढ़ की रमन सिंह सरकार पॉकेटमार सरकार है, क्योंकि यह गरीबों को लूटने का कार्य कर रही है.

सरगुजा जिले के अम्बिकापुर में आदिवासी एवं किसान महासम्मेलन को सम्बोधित करते हुए हरिप्रसद ने कहा कि सरकारी विकास के खोखले दावे का सरकार के आंकड़े ही झुठलाते हैं और पिछले दस सालों में प्रदेश में गरीबी लगातार बढ़ी है.


नरेंद्र मोदी के लिए लालकिले की प्रतिकृति बनाए जाने पर व्यंग्य कसते हुए हरिप्रसाद ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस में बुनियादी फर्क है, हमारे नेता प्रधानमंत्री की कुर्सी को त्यागते हैं और उनके नेता मुंगेरी लाल की तरह नकली लाल किले से नकली प्रधानमंत्री बनकर भाषण देने को अपनी बहादुरी मानते हैं.

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में 4 प्रतिशत कृषि भूमि में कमी हुई है. इसका कारण राज्य सरकार है जो उद्योगपतियों को कौड़ीयों के दाम पर खेती की जमीन बेच रही है. केन्द्र सरकार ने भूमि अधिग्रहण बिल लाकर किसानों को राहत दी है, अब किसानों की मर्जी के बिना कोई भी उनकी जमीन नहीं ले सकेगा. भाजपा कभी किसानों का हित नहीं सोचती उनके प्रधानमंत्री का सपना देखने वाले नेता यहां आकर भाषण देते हैं लेकिन किसानों के बारे में कुछ भी नहीं कहते. वे कुछ कह भी नहीं सकते क्योंकि गुजरात में उन्होंने एक लाख से अधिक किसानों को सिर्फ इसलिये जेल भेज दिया था कि वो बिजली का बिल नहीं भर सके थे.

हरिप्रसाद ने कहा कि भाजपा नीति और नियत की बात करती है केन्द्र की यूपीए सरकार की नीतियों और अपने राज्य सरकार की भाजपा सरकार की तुलना कीजिए. केन्द्र सरकार ने मनरेगा, खाद्य सुरक्षा, एनआरएचएम, शिक्षा का अधिकार जैसे सोलह जीवन शैली को बदलने वाली योजनाएं लायी है. राज्य की सरकार ने सिर्फ चावल बांटने का काम किया है. यह चावल भी केन्द्र सरकार किसानों से 27 रूपये में खरीद कर बीपीएल और अंत्योदय परिवारों के लिये चार रूपये में राज्य सरकार को उपलब्ध कराती है.

प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिये सीधे तौर पर मुख्यमंत्री को जिम्मेदार ठहराते हुए केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत ने कहा कि इंदिरा प्रियदर्शनी बैंक घोटाले की सीडी से स्पष्ट है मुख्यमंत्री और उनके वरिष्ठ मंत्री अपराधियों से घूसखोरी कर उन्हें संरक्षण देते हैं.

ऐसे मुख्यमंत्री के रहते प्रदेश की चौदह हजार से अधिक आदिवासी बालिकाएं जो कि सरगुजा संभाग से गायब हुई है, झलियामारी के आदिवासी छात्रावास जिन बालिकाओं को दैहिक शोषण हुआ. उन्हें न्याय कैसे मिलेगा?

उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस की सरकार बनती है तो किसानों को तीन साल का बकाया बोनस हम देंगे. कांग्रेस किसानों का धान दो हजार रूपये के समर्थन मूल्य पर खरीदने और गरीबों को 35 किलो मुफ्त चावल देने के वायदे पर भी कायम है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!