अहिंसक नक्सलियों का स्वागत है: रमन

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि नक्सली यदि हिंसा का मार्ग छोड़े तो उन्हें गले लगाया जा सकता है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री सोमवार को नक्सल हिंसा प्रभावित बस्तर संभाग के मुख्यालय जगदलपुर में प्रसिद्ध बस्तर दशहरा के अवसर पर आदिवासी समाज के परम्परागत मुरिया दरबार को सम्बोधित कर रहे थे. डॉ. रमन सिंह ने इस अवसर पर नक्सलियों से एक बार फिर लोकतंत्र और विकास की मुख्य धारा से जुड़ने का आव्हान किया है. उन्होंने कहा कि इन लोगों को अपनी अंतरात्मा से विचार करना चाहिए कि किसी भी समस्या का समाधान हिंसा अथवा बंदूक से नहीं हो सकता.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने भटके हुए लोगों, विशेष रूप से युवाओं का आव्हान किया कि वे अपने घर-परिवार, समाज, राज्य और देश के हित में सोचें और हिंसा का रास्ता जल्द से जल्द छोड़ें और अपनी ऊर्जा रचनात्मक कार्यो में लगाएं. मुख्यमंत्री ने कहा कि नक्सल समस्या के निदान के लिए हम सभी लोगों से सहयोग लेने को तैयार हैं.


छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं से आदिवासी बहुल बस्तर अंचल में जनता की सामाजिक आर्थिक बेहतरी का और विश्वास का एक नया वातावरण निर्मित हुआ है. नगरनार का इस्पात संयंत्र बहुत जल्द शुरू हो जाएगा, जिससे इस इलाके में रोजगार बढ़ेगा और लोगों के जीवन में समृद्धि आएगी. उन्होंने कहा कि अपनी योजनाओं के जरिए शासन और प्रशासन इस अंचल में दूर-दराज के गांवों तक लोगों के बीच पहुंचकर उनके हर सुख-दुःख में भागीदार बन रहा है. उन्होंने सभी लोगों को बस्तर दशहरे की बधाई और शुभकामनाएं दी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!