छत्तीसगढ़: पेड़ की ठूंठ खड़ी हो गई!

रतनपुर | उस्मान कुरैशी: पहले हजारों की संख्या में पेड़ काट डाली अब बरगद के पेड़ को कथित रूप से खड़ी कर धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ किया जा रहा है. लोगों ने इस मामले की जांच कर दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

रतनपुर बेलगहना मार्ग में लालपुर के पास सड़क के किनारे जेसीबी से उखाड़ कर फेंके गए बरगद के पेड़ की ठूंठ फिर से खड़ी दिखाई पड़ रही है. जहां अब लोग बड़ी तादात में पहुंच कर कथित पेड़ की पूजा पाठ करनी शुरू कर दी है. क्षेत्र में इस बात की अफवाह है कि मौके पर दिखाई पड़ रही बरगद के पेड़ की ठूंठ अपने आप फिर से खड़ी हो गई है.


इस प्लाट के चौकीदार संतोश यादव का कहना है कि शुक्रवार की सुबह साढ़े दस बजे के करीब यहां बने मकान में खाना खा रहे थे. इसी दौरान यहां मौजूद झा इंजीनियर ने कहा कि देखों वो पेड़ खड़ा हो रहा है. बाहर आकर देखे तो बरगद के पेड़ का ठूठ खड़ी हो गई थी. इनका कहना है कि बजरंग सेठ के कहने पर बरगद के पेड़ को बीस दिन पहले जेसीबी से जड़ से उखाड़ दिया गया था. जिसकी शाखाओं को लोग जलाने के लिए काटकर ले गए थे सेठ ने बची ठूंठ को नाले में फेंकने की बात कही थी.

इस घटना की खबर से मौके पर पहुंचे रतनपुर नगर पालिका के पूर्व पार्षद शीतल जायसवाल कहते है कि यहां देखने के बाद लग रहा है सारा कुछ किसी सुनियोजित योजना के तहत की जा रही है. अफवाह फैलाकर लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ हो रही है. उन्होने प्रशासन से पूरे मामले की निश्पक्षता से जांच कराके दोषी लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है.

उल्लेखनी है कि इस जगह में हजारों की संख्या में हरे भरे पेड़ थे जिसे रातों रात जेसीबी मशीन से उखाड़ कर नष्ट कर दिया गया था जिसकी शिकायत लोगों ने वन विभाग से भी की थी. जिसकी लीपापोती कर दी गई है. अब इस तरह के नए खुलासे ने मामले संदेहास्पद बना दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!