पुलिस की लापरवाही से युवक की हत्या!

रतनपुर | उस्मान कुरैशी: बुधवार की शाम छत्तीसगढ़ के रतनपुर क्षेत्र के कलमीटार रोड में रानी गांव निवासी 32 वर्शीय युवक राम कुमार की गांव के ही छह युवकों ने पीट पीट कर हत्या कर दी. घटना के बाद जागी रतनपुर पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर हत्या का अपराध दर्ज कर लिया है. मृत युवक का शव गुरूवार को पीएम के बाद परिजनों को सौप दिया गया. घटना को लेकर पुलिस के खिलाफ लोगों में तीखा आक्रोश है.

मंगलवार को गणेश विसर्जन के दौरान राम कुमार का गांव के ही युवक कृष्ण कुमार निर्मलकर विकास निर्मलकर रमेश पईनका और मथुरा गोड़ से कुछ विवाद हो गया था. छीनाझपटी होने पर वहां मौजूद विनायक बाबा ने बीच बचाव कर मामले शांत कराया . रामकुमार वहां से बाबा के साथ जेंजराडीह स्थित आश्रम चला गया.

इसके बाद मंगवार को ही रात नौ बजे के लगभग रामकुमार को ढूंढते सभी युवक विनायक बाबा के जेंजराडीह स्थित आश्रम पहुंचे. यहां रामकमार के नहीं मिलने पर युवकों ने बाबा की ही जमकर धुनाई कर दी. घटना की जानकारी विनायक बाबा ने तुरंत मौके से मोबाईल द्वारा रतनपुर पुलिस को दी .

मोबाईल पर ही बाबा को पुलिस ने 108 बुलाकर अस्पताल में उपचार करा लेने की सलाह दी. बाबा को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया . जहां से बाबा की स्थिति गंभीर होने पर उसे उपचार के लिए बिलासपुर के निजी अस्पताल ले जाया गया. इस दौरान रामकुमार भी उसके साथ देखरेख के लिए बिलासपुर चला गया.

बुधवार की शाम वह बाबा का कपड़ा लेने गांव आया था. यहां कलमीटार रोड में पैदल आश्रम की ओर जा रहा था कि दुलहरा तालाब नहर के पास घात लगाए युवकों ने रामकुमार पर ताड़ बतोड़ हमला कर दिया. युवक को मरा समझ हमलावर वहां से भाग खड़े हुए. कुछ चश्मदीदों ने घटना की खबर मोबाईल से बाबा को दी . बाबा ने घटना की सूचना रतनपुर थाने को दी . पुलिस घटना स्थल पहुंची जहां रामकुमार अंतिम सांसे ले रहा था. पुलिस जीप में उठाकर उसे उपचार के लिए सामुदायिक केन्द्र लाया गया जहां प्राथमिक उपचार के दौरान कुछ देर में उसकी मौत हो गई .

इस मामले में रतनपुर पुलिस ने छह युवकों को गिरफतार कर हत्या का जुर्म पंजीबद्व किया है. मामले पर थाना प्रभारी विलियम टोप्पो कहना है कि मृतक युवक अपराधी प्रवृत्ति का था. मामले के सभी छह आरोपियों को गिरफतार कर हत्या का अपराध दर्ज किया गया है.

युवको ने दी थी जान से मारने की घमकी
मृतक युवक की बहन संतोषी का आरोप कि गांव के कृष्ण कुमार और विकास निर्मलकर ने बुधवार की दोपहर उसके घर जाकर राम कुमार की पत्नी शशि साथ गाली गलौच कर राम कुमार को जान से मार डालने की घमकी दी थी . उसने इस घटना की रिर्पोट रतनपुर थाना को देने की भी बात कही है . साथ उसने चारों युवकों को बुुघवार की शाम रानीगांव चौक पर देखे जाने की जानकारी दी .

सूचना पर पुलिस ने नहीं की कार्रवाई
मंगलवार की रात युवकों ने विनायक बाबा को हमला कर गंभीर रूप से घायल किया था तभी रात दस बजे बाबा ने रतनपुर थाना को मोबाईल से सूचना दी थी जिस पर पुलिस ने किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं की. बुघवार की दोपहर मृतक की पत्नी शशि की रिर्पोट पर भी पुलिस ने कोई कार्यवाई नहीं की और थाना से इन्हे बिना पावती दिये चलता कर दिया गया. पुलिस मामले को गंभीरता से लेकर युवकों के खिलाफ कार्रवाई करती तो हो सकता है कि युवक की जान बच जाती. और कथित हत्या के सभी आरापी भी ऐसे गंभीर अपराध करने से बच जाते.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *