जोड़ी जायेंगी छत्तीसगढ़ की नदियां

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ की नदियों को भविष्य में आपस में जोड़ा जायेगा. राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ में नदियों को जोड़ने के लिए व्यापक कार्य योजना बनाने का निर्णय लिया है. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जल संसाधन विभाग के इस प्रस्ताव पर विभाग को आगे की कार्रवाई शुरू करने के निर्देश दिए हैं.

कार्य योजना बनाने के लिए सबसे पहले व्यापक सर्वे कराया जाएगा. प्रदेश में सिंचाई सुविधा बढ़ाने के लिए सूक्ष्म सिंचाई योजनाओं को भी बढ़ावा दिया जाएगा.

जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने शुक्रवार विभागीय काम-काज की समीक्षा बैठक में इन दोनों महत्वपूर्ण कार्यों के लिए अधिकारियों को युद्ध स्तर पर तैयारी शुरू करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि चालू वित्तीय वर्ष 2015-16 के बजट में शामिल कम से कम बीस लघु एवं मध्यम सिंचाई योजनाओं को सूक्ष्म सिंचाई योजना के रूप में बनाने के लिए भी प्रस्ताव तैयार किया जाए.

जल संसाधन मंत्री ने चालू वित्तीय वर्ष 2015-16 के बजट में शामिल लघु एवं मध्यम सिंचाई योजनाओं के डीपीआर में पाइप लाइन, सम्पवेल तथा पम्प के प्रस्ताव भी शामिल करें. उन्होंने इसी वित्तीय वर्ष के कम से कम बीस योजनाओं को सूक्ष्म सिंचाई योजना बनाने के लिए जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

उन्होंने कहा कि ऐसी योजनाएं जिनमें नहरें बनाने के लिए 50 प्रतिशत से अधिक जमीन अधिग्रहण करना है, वहां पाइप लाइन की नहर बनाने के लिए प्रस्ताव बनाए जाएं. प्रदेश की सिंचाई क्षमता की चर्चा के दौरान श्री अग्रवाल ने प्रदेश के ऐसे जिले जहां सिंचाई क्षमता दस प्रतिशत से कम है, वहां विस्तृत सर्वे कराकर मध्यम और लघु सिंचाई योजनाओं के प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए. इसी मुद्दे पर चर्चा करते हुए मंत्री अग्रवाल ने नदियों को जोड़ने के लिए व्यापक कार्य योजना तैयार करने के निर्देश भी दिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *