सरगुजा में 42 हाथियों से दहशत

अंबिकापुर | संवाददाता: हाथियों के प्राकृतिक भोजन तथा रहवास को छेड़ने की सजा गांव वाले भुगत रहे हैं. हालांकि, हाथियों के रहने की जगह पर गांव वालों ने खदानें नहीं खोदी है और न ही उनके जंगल काटे हैं पर सजा उन्हें ही भुगतनी पड़ रही है.

प्रतापपुर तथा उसके आसपास के क्षेत्र नें हाथियों के अलग-अलग दल पहुंचकर किसानों की फसल नष्ट कर रहें हैं. कुल 42 हाथी बताये जा रहें हैं. दो दिनों में हाथियों ने 20 से 25 एकड़ फसल को नुकसान पहुंचा दिया है. गांव वाले इससे दहशत में हैं.

22 हाथियों का एक दल राजपुर क्षेत्र से प्रतापपुर आया हुआ है. जिसने पिछले दो दिनों में कनकपुर, सिलफिली व मदननगर में 10 एकड़ फसल को नुकसान पहुंचाया है.

दूसरी तरफ 16 हाथियों का दूसरा दल हरिपुर, खरतोसा, दरहोरा के 10 एकड़ के धान व गन्ने की फसल को नुकसान पहुंचा चुका है.

1 हाथी अकेला दरहोरा में घूम रहा है तो बंशीपुर में 3 हाथियों के एक दल ने दहशत फैला रखी है.

हाथी इन क्षेत्र के धान, मक्के, मूंगफली तथा गन्ने के केत को नुकसान पहुंचा रहें हैं. गांव वालों को डर है कि कहीं रात में उनके घरों पर हमला न कर दें.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *