छत्तीसगढ़ में रोज चार रेप

नई दिल्ली | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में औसतन रोज दस महिलाओं पर यौन अपराध किये जाते हैं. इस बात का खुलासा राष्ट्रीय क्राइम रिसर्च ब्यूरों के ताजा रिपोर्ट से हुआ है. आकड़े वर्ष 2014 के हैं तथा ये वे मामले हैं जिनमें पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई जाती है. जाहिर है कि जमीनी हकीकत में छत्तीसगढ़ में महिलाओं पर यौन अपराध और ज्यादा मात्रा में होते हैं.

वर्ष 2014 में छत्तीसगढ़ में 21 रेप की कोशिश की शिकायत मिली है तथा 1436 रेप किये गये हैं. इस तरह से छत्तीसगढ़ में औसतन रोज 3.9 रेप किये गये हैं. देशभर में कुल 36,735 रेप के मामले दर्ज किये गये. इस तरह से देशभर में रोज 100 रेप के मामले दर्ज होते हैं.

इसी तरह से वर्ष 2014 में महिलाओं के शीलभंग के इरादे से 2122 हमले किये गये तथा 79 मामलों में उनका अपमान किया गया.

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ की जनसंख्या देश की कुल आबादी की दो फीसद है तथा देशभर में महिलाओं पर होने वाले यौन अपराधों में छत्तीसगढ़ की हिस्सेदारी भी दो फीसद है.

छत्तीसगढ़ की तुलना में बिहार में महिलाओं पर यौन अपराध की हिस्सेदारी 1.7 फीसद, गोवा में 0.3 फीसद, जम्मू-कश्मीर में 1.5 फीसद, पंजाब में 1.7 फीसद, तमिलनाडु में 1.4 फीसद, त्रिपुरा में 0.6 फीसद तथा उत्तराखंड में 0.5 फीसद अपराध होते हैं.

इसी तरह से छत्तीसगढ़ की तुलना में महिलाओं पर यौन अपराध की हिस्सेदारी मध्यप्रदेश में 11.4 फीसद, आंध्रप्रदेश में 6.3 फीसद, महाराष्ट्र में 11.3 फीसद तथा उत्तरप्रदेश में 9.3 फीसद होते हैं.

महिलाओं पर सबसे कम यौन अपराध 0.1 फीसद मनिपुर, सिक्किम, चंडीगढञ तथा अंदमान निकोबार में होते हैं.

जबकि दादर और हवेली, दमन और दीव, लक्ष्यद्वीप तथा पांडिचेरी में महिलाओं पर होने वाले यौन अपराध की हिस्सेदारी देश की शून्य फीसद है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *