छत्तीसगढ़: SECL के 6 अफसर निलंबित

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में एसईसीएल के सीनियर जीएम सहित 6 अफसरों को निलंबित कर दिया गया है. इन अफसरों पर भ्रष्ट्राचार का आरोप है. भ्रष्ट्राचार के आरोप में एसईसीएल के मुख्यालय के चीफ जनरल मैनेजर आरके मांझी, सीनियर मैनेजर जोहिला जेआर आचार्य, सीनियर मैनेजर हसदेव क्षेत्र सौरभ पांडेय, सीनियर मैनेजर कुसमुंडा जीपी शुक्ला, सीनियर मैनेजर सोहागपुर आरके तिवारी, चीफ मैनेजर वर्तमान में डब्ल्यूसीएल में पदस्थ मनोज बिश्नोई शामिल हैं.

गौरतलब है कि मनेन्द्रगढ़ स्थित खदान के लिये नवंबर 2015 में दुर्घटना के समय सांस लेने में सहायता करने वाले सुरक्षा उपकरण पी- 30 की खरीदी की गई थी. इस उपकरण की खरीदी यूक्रेन की एक कंपनी से किया गया था तथा 85 लाख रुपये का भुगतान किया गया था. दरअसल, इस कंपनी के बने सुरक्षा उपकरण को यूक्रेन में ही घटिया होने के कारण उपयोग में नहीं लाया जाता है. इसकी शिकायत पीएमओ तक की गई थी. उल्लेखनीय है कि इन उपकरणों में बाहर की जहरीली हवा अंदर प्रवेश कर जाती है जिसे रोकने के लिए ही यह उपकरण पहना जाता है.


उधर, इसका उपयोग करने वाले कर्मचारियों के बेहोश होने की शिकायतें सामने आने लगीं. जिसके बाद ऐसे उपकरण बनाने वाली दूसरी कंपनी ने मामले की शिकायत पीएमओ समेत एसईसीएल के विजिलेंस डिपार्टमेंट, डीजीएमएस, सीवीओ और सीवीसी से कर दी. जब मामले की मामले की जांच करवाई गई तो शिकायत प्रथम दृष्टया सही पाई गई.

इधर, पीएमओ ने शिकायत मिलने के बाद कोल इंडिया और एसईसीएल को प्रथम दृष्टया गंभीर मामला मानते हुए दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिये. जिसके बाद सीएमडी बीआर रेड्‌डी ने शुक्रवार को एसईसीएल मुख्यालय में पदस्थ चीफ जनरल मैनेजर आरके मांझी सहित छह अफसरों को निलंबित कर दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!