महिला को सामाजिक सजा, बाल काटे

जशपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के जशपुर के बगीचा के गांव में एक महिला को सामाजिक सजा देने की घटना सामने आई है. बगीचा के बेतरा गांव में एक 35 वर्षीया महिला के चरित्र पर लांछन लगा गांव की महिलाओं ने उसे प्रताड़ित किया तथा उसके बाल कैंची से बुरी तरह से काट दिये.

एक तरफ देश को डिजीटल युग में ले जाने की कोशिश सरकार कर रही है तो दूसरी तरफ गांवों में अब भी सामाजिक सजा का अस्तित्व बरकरार है. हैरत की बात यह है कि एक महिला को प्रताड़ित करने, लांछित करने तथा उसके बाल काटने में वहीं की चार महिलाओं ने अग्रणी भूमिका निबाही. मामला कुछ हद तक खाप पंचायत द्वारा सजा तय किये जाने के समान है.


इतिहास गवाह है कि जब समाज खुद को न्यायालय से ऊपर समझने लगता है तब ही उसमें अराजकता फैलती है.

मिली जानकारी के अनुसार गांव की एक 35 वर्षीया महिला का पति पिछले तीन साल काम करने कर्नाटक गया हुआ है. उसके दो बच्चे हैं जो छात्रावास में रहकर पढ़ाई करते हैं.

गांव वालों का आरोप है कि एक आदमी उस महिला के घर आता-जाता रहता है. गांव वालों को शक है कि उस व्यक्ति से महिला के ताल्लुकात है. गांव वालों ने पहले भी इस बारे में महिला को समजाइश दी थी.

घटना की सूचना मिलने पर पुलिस ने पीड़िता को प्रताड़ित करने वाली चारों महिलाओं अँजली कुजूर, शीलवंती कुजूर, अमृता कुजूर तथा रंजीता को गिरफ्तार कर लिया है. बगीचा थान में उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 355,506 तथा 34 के तहत अपराध पंजीकृत किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!