छत्तीसगढ़: पत्रकारों के लिये विशेष कमेटी

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में पत्रकारों के लिये विशेष समिति का गठन किया जायेगा. जिसकी अध्यक्षता सचिव स्तर के अधिकारी करेंगे. यह समिति किसी भी पत्रकार के गिरफ्तार होने के की शिकायतों की जांच करेगा. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने सोमवार को पत्रकारों को बताया कि यह विशेष समिति राज्य शासन के सचिव स्तर के अधिकारी की अध्यक्षता में गठित की जाएगी.

किसी भी पत्रकार की गिरफ्तारी के संबंध में 72 घण्टे के भीतर समिति को मिलने वाली शिकायत की जांच सरकार के पास उपलब्ध ठोस तथ्यों के आधार पर की जाएगी और आवश्यक हुआ तो संबंधित पत्रकार को राहत देने के लिए उपयुक्त निर्णय लिया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने टेलीफोन पर पत्रकारों को यह भी आश्वासन दिया कि उनकी सुरक्षा के लिए राज्य सरकार सजग है और इसके लिए सभी जरूरी उपाय किए जाएंगे. पत्रकार सुरक्षा कानून संयुक्त संघर्ष समिति के सचिव कमल शुक्ला और बस्तरिया प्रेस क्लब के अध्यक्ष मनीष गुप्ता ने मुख्यमंत्री से टेलीफोन पर बातचीत की.

इस अवसर पर श्रमजीवी पत्रकार कल्याण संघ के संस्थापक अध्यक्ष श्री शंकर पांडे, पत्रकारगण हरजीत सिंह पप्पू, वीरेन्द्र मिश्रा, भंवरलाल बोथरा, सुरेश रावल और एन.आर.के.पिल्ले भी उपस्थित थे. मुख्यमंत्री की पहल पर इस संबंध में 22 दिसम्बर को बस्तर से पत्रकारों का एक समूह रायपुर पहुंचकर मुख्यमंत्री से चर्चा भी करेगा. पत्रकारों ने मुख्यमंत्री की इस संवेदनशील पहल की प्रशंसा करते हुए कहा कि नक्सल प्रभावित जैसे कठिन क्षेत्रों में कार्य की दृष्टि से यह राज्य शासन का एक अच्छा प्रयास होगा.

इधर पत्रकारों के एक प्रतिनिधि मंडल ने आज बस्तर संभाग और जिले के मुख्यालय जगदलपुर में कलेक्टर को एक ज्ञापन सौंपा, जिसमें उन्होंने पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कानून बनाने और अन्य मुद्दों पर आवश्यक कार्रवाई का आग्रह किया.

कलेक्टर अमित कटारिया ने उनका ज्ञापन प्राप्त किया और उन्हें आश्वस्त किया कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पत्रकारों की समस्याओं को संज्ञान में लिया है और राज्य शासन के सचिव स्तर के अधिकारी की अध्यक्षता में एक विशेष समिति गठित करने का सैद्धांतिक निर्णय लिया गया है.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *