मधुमक्खी के हमले से किशोरी की मौत

कोरबा | एजेंसी: छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के जंगल में लकड़ी लेने पहुंची ग्रामीण महिलाओं पर मधुमक्खियों ने हमला कर दिया. उसी दौरान मधुमक्खियों के बेतहाशा काटने से एक किशोरी की हालत गंभीर हो गई. अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. उसकी चाची को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है. एक अन्य महिला को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई.

जानकारी मिली है कि छत्तीसगढ़ के कोरबा वन परिक्षेत्र अंतर्गत कोरकोमा सर्किल के गांव कमरन की 45 वर्षीय झुलोबाई, उसके देवर सुधुराम की 14 वर्षीय बेटी धनरासो व पड़ोस में रहने वाली सुखन बाई गवरचुआं जंगल में लकड़ी लेने गई हुई थीं. वे एक पेड़ के नीचे लकड़ी जमा कर रही थीं. उसी पेड़ में एक डाल सूखी हुई दिखाई दी. उस डाल को काटने के लिए कुल्हाड़ी मारते ही पेड़ में छत्ते पर मौजूद मधुमक्खियां विचलित हो गईं. मधुमक्खियों ने महिलाओं पर हमला कर दिया.


मधुमक्खियों से बचने के लिए किशोरी सहित दोनों महिलाएं इधर से उधर भागती रहीं. मगर किशोरी ज्यादा तेज भाग नहीं पाई. वह अपना दुपट्टा ओढ़कर जमीन पर लेट गई. इसके बावजूद उसके पूरे शरीर में मधुमक्खी गुथ गए. मधुमक्खियों ने उसे काटकर बुरी तरह से घायल कर दिया. दोनों महिलाएं भी मधुमक्खियों के हमले से घायल हो गईं.

महिलाओं ने गांव पहुंचकर घटना की जानकारी ग्रामीणों को दी. ग्रामीणों ने किशोरी सहित दोनों महिलाओं को संजीवनी एक्सप्रेस के माध्यम से जिला चिकित्सालय भेज दिया. जिला चिकित्सालय में चिकित्सकों ने जांच के बाद किशोरी को मृत घोषित कर दिया.

चिकित्सकों ने मामूली रूप से घायल सुखन बाई को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी. मृत किशोरी की बड़ी मां झुलोबाई का उपचार अभी चल रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!