छत्तीसगढ़: राजमार्गों से शराब दुकानें हटेंगी

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में एक्सीडेंट को टालने के लिये राजमार्गो तथा मुख्य मार्गो से शराब की दुकानें हटाई जायेंगी. उल्लेखनीय है कि विशेषकर राजमार्गो में स्थित शराब की दुकानों से ड्राइवर शराब पीते हैं तथा एक्सीडेंट को बुलावा देते हैं. सड़कों पर लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए छत्तीसगढ़ के सभी शहरों में सड़कों पर लगे खतरनाक होर्डिंग्स, राजमार्गों एवं मुख्य मार्गों की शराब दुकानें और शहरों के बीच संचालित डेयरियों को हटाने पुलिस और परिवहन विभाग द्वारा सख्त कार्रवाई की जाएगी.

इसके अलावा सड़कों पर वाहन खड़े करने वालों, तेज रफ्तार में और शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले लोगों पर भी कठोर कार्रवाई होगी. छत्तीसगढ़ सरकार ने सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करने और इसके उपायों के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए पुलिस, परिवहन, स्वास्थ्य, स्कूल शिक्षा, लोक निर्माण, आबकारी और नगरीय प्रशासन विभाग को आपसी समन्वय से जरूरी कार्ययोजना बनाने कहा.

उल्लेखनीय है कि भारत के उच्चतम न्यायालय ने पूर्व न्यायाधीश जस्टिस के.एस. राधाकृष्णन की अध्यक्षता में देश की सड़कों पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सड़क सुरक्षा समिति का गठन किया है. यह समिति सड़कों पर लोगों की सुरक्षा के लिए केन्द्र और राज्य शासन द्वारा बनाए गए नियमों और कानूनों के क्रियान्वयन पर नजर रखती है. समिति के निर्देशों के अनुरूप परिवहन विभाग के सचिव हर तीन महीने में राज्य द्वारा इस दिशा में उठाए गए कदमों और की गई कार्रवाई की जानकारी समिति को देते हैं.

छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव विवेक ढांड ने उच्चतम न्यायालय के निर्देशों के अनुसार सड़कों पर लोगों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता में रखते हुए उनकी सुरक्षा के लिए सड़क सुरक्षा से संबंधित कानूनों और प्रावधानों को सख्ती से अमल में लाने के लिये सरकारी विभागों से कहा है.

इसी सिलसिले में रायपुर स्थित छत्तीसगढ़ के मंत्रालय में हुई बैठक में मुख्य सचिव ने दुर्घटना के संभावित स्थानों का चिन्हांकन कर वहां गति नियंत्रण के उपाय करने, चेतावनी संकेतक लगाने और रात में पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं. तेज और नशे की हालत में वाहन चलाने लोगों की जांच कर नियमानुसार उनके खिलाफ सख्ती बरतने कहा.

उन्होंने परिवहन विभाग को चौराहों पर लगे ट्रैफिक लाइट्स की दिक्कतों को यथाशीघ्र दुरूस्त करने कहा. विवेक ढांड ने कहा कि ट्रैफिक लाइट्स सही ऊंचाई पर लगाएं और उनकी अवधि यातायात के दबाव के हिसाब से सुनिश्चित करें. उन्होंने सड़कों पर घूम रहे पशुओं को पकड़कर रखने के लिए कांजी हाउस की स्थापना के लिए शहर से दूर भूमि आबंटित करने भी कहा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *