भारत आने को उत्सुक चीन के कारोबारी

मुंबई | एजेंसी: चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के भारत यात्रा का चीनी व्यापारियों पर सकारात्मक असर पड़ा है. चीन के व्यापारी भारत के साथ अपना व्यापारिक संबंध बढ़ाने के लिये उत्सुक नजर आ रहें हैं. जाहिर है कि भारत के विशाल बाजार पर चीन के व्यापारियों की नजर है जो वहां के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की यात्रा के बाद से परवान चढ़ने लगा है. एक अधिकारी ने यहां बुधवार बताया कि चीन के व्यापारियों का प्रतिनिधी मंडल भारत आने वाला है. जल्द ही 600 प्रतिनिधियों का एक दल भारत आने वाला है, जो मुंबई, पुणे, अहमदाबाद और मध्य प्रदेश के विनिर्माण केंद्रों का दौरा करेगा. इस दल में 400 चीनी कंपनियों के प्रतिनिधि और अधिकारी शामिल होंगे.

मियोरिएंट इंटरनेशनल एक्जीबिशन के मुख्य संचालन अधिकारी बिनू पिल्लई ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शी की वार्ता के बाद चीन के अधिकारियों, विभिन्न संयंत्रों और मशीनों की निर्माता कंपनियों और सामान्य कारोबारियों में दोनों देशों के मजबूत आर्थिक संबंधों की तीव्र इच्छा पैदा हो गई है.

पिल्लई ने बताया कि एमआईई 20 नवंबर से मुंबई में चीन के उत्पादों की एक तीन दिवसीय प्रदर्शनी ‘चाइना होमलाइफ इंडिया-2014’ आयोजित करने जा रहा है. इसके साथ ही चीन के मशीनों की एक प्रदर्शनी ‘चाइना मैशीनेक्स इंडिया-2014’ भी आयोजित होगी.

प्रदर्शनी का उद्घाटन वेंगझू के मेयर करेंगे. ये प्रदर्शनियां बारी-बारी से पॉलैंड, ब्राजील, दुबई, दक्षिण अफ्रीका, कजाकिस्तान, तुर्की, जोर्डन और भारत में होती रहती है.

पिल्लई ने कहा, “हम समझते हैं कि भारत चीन की मशीनों के लिए एक विशाल बाजार है. यह प्रदर्शनी भारतीय कंपनियों और खासकर ऐसी विनिर्माता कंपनियों को अंतर्राष्ट्रीय मंच प्रदान करेगा, जो अंतर्राष्ट्रीय व्यापारिक यात्रा कम करते हैं.” गौरतलब है प्रधानमंत्री मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ अभियान से अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर यह संदेश गया है कि भारत में विदेशी व्यापारियों को पहले की तुलना में ज्यादा सुविधाएं दी जायेंगी. उल्लेखनीय है कि चीन के व्यापारी इस मौके का फायदा उठाना चाहते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *