चिटफंड घोटाला: बीजद सांसद गिरफ्तार

भुवनेश्वर | एजेंसी: सीबीआई ने ओडिशा के सत्ताधारी बीजद के मयूरभंज से सांसद रामचंद्र हंसदा को गिरफ्तार कर लिया. उनके अलावा दो पूर्व विधायकों को नवदिगंत कैपिटल फाइनेंस सर्विसिस के साथ कथित संपर्को के कारण मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया. सीबीआई ने पूर्व विधायकों- बीजद के सुबर्ण नाइक और भाजपा के हितेश बगराती-से मंगलवार को तीन घंटे पूछताछ करने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

तीनों नेताओं से ओडिशा स्थित इस चिटफंड कंपनी के साथ कथित जुड़ाव के सिलसिले में पिछले 12 दिनों के दौरान तीसरी बार पूछताछ की गई.

नई दिल्ली में सीबीआई की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, “रामचंद्र हंसदा, बीजद सांसद, हितेश कुमार बगरती पूर्व विधायक, भाजपा, और सुबर्ण नाइक पूर्व विधायक, बीजद को नवदिगंत समूह से संबंध रखने के लिए ओडिशा चिटफंड मामले में सीबीआई के एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया है.”

सीबीआई सूत्रों ने कहा कि ये नेता इस कंपनी में निदेशक थे और वे जमाकर्ताओं के साथ धोखाधड़ी न करने के अपने रुख के पक्ष में ठोस सबूत पेश नहीं कर पाए.

हंसदा और अन्य दोनों नेता इसके पहले 26 अक्टूबर को जांच एजेंसी के समक्ष पेश हुए थे और उनसे चार घंटे पूछताछ की गई थी.

सीबीआई ने तीनों नेताओं के परिसरों पर छापे भी मारे थे, जहां से कुछ दस्तावेज बरामद हुए थे.

सीबीआई ने हंसदा के रैरंगपुर स्थित आवास से जुलाई में एक छापे के दौरान 28 लाख रुपये भी बरामद किए थे.

हंसदा ने पूर्व में कहा था कि यह रकम उनकी थी, बाद में उन्होंने अपना बयान बदल दिया और कहा कि रकम उनके समर्थकों की थी. मंगलवार को उन्होंने कहा कि रकम बीजद की है, जिससे पार्टी नेताओं ने इंकार कर दिया है.

कंपनी का प्रबंध निदेशक अंजन कुमार बलियारसिंह और दो निदेशकों -कार्तिकेय परीदा व प्रदीप पटनायक- को 26 अक्टूबर को ही गिरफ्तार कर लिया गया था. वे जेल में हैं, क्योंकि सीबीआई की एक विशेष अदालत ने उनकी जमानत याचिका पहली नवंबर को खारिज कर दी थी.

सीबीआई ने राज्य की एक अन्य चिटफंड कंपनी अर्थतत्व समूह के साथ कथित संबंधों के लिए बीजद विधायक प्रवत त्रिपाठी को भी गिरफ्तार किया है.

इस बीच बीजद ने इन गिरफ्तारियों से अपने को दूर कर लिया है.

बीजद प्रवक्ता रविनारायण नंदा ने कहा, “घोटाले में पार्टी नेताओं की संलिप्तता के लिए पार्टी को किसी भी रूप में जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता. यह उनका निजी मामला है. हम आशा करते हैं कि सीबीआई कानून के मुताबिक कार्रवाई करेगी. यह बीजद की छवि कभी नहीं खराब करेगी.”

भाजपा नेता पृथ्वीराज हरिचंदन ने भी इसी तरह की बात कही है. उन्होंने कहा कि पार्टी ने 2014 के लोकसभा चुनाव व विधानसभा चुनाव में बगरती को टिकट देने से इंकार कर दिया था, क्योंकि उनका नाम घोटाले में सामने आया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *