ईरानी की टिप्पणी रिकॉर्ड से हटी

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: स्मृति ईरानी की टिप्पणी को राज्यसभा के रिकार्ड से हटा दिया गया. एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई है. ईरानी ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के मामले और हैदराबाद विश्वविद्यालय में दलित छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या पर सदन में हुई बहस का जवाब देते हुए जेएनयू में महिषासुर की मौत का स्मरणोत्सव मनाने का हवाला दिया था. साथ ही एक पर्चे को पढ़ा था जिसके बारे में उन्होंने कहा कि उसकी विश्वविद्यालय ने पुष्टि की है.

विपक्षी सदस्यों ने इस पर हंगामा किया था. कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने यह कह कर इसका विरोध किया था कि इससे देवताओं और पैगंबरों को अपमानित करने की एक खराब शुरुआत हो जाएगी.

इस मुद्दे पर शुक्रवार को भी हंगामा हुआ. विपक्ष के सदस्यों ने ईरानी से अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगने को कहा.

ईरानी ने माफी नहीं मांगी और कहा कि वह खुद देवी दुर्गा की पूजा करती हैं. इस संदर्भ का उल्लेख उन्होंने सिर्फ एक बिंदु को साबित करने के लिए किया था.

संबंधित खबरें-

स्मृति का स्पष्टीकरण- मैंने सच बताया

रोहित वेमुला के शव पर राजनीति: स्मृति

स्मृति-मायावती के बीच तीखी तकरार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *