शिवराज का इस्तीफा लें: कांग्रेस

भोपाल | एजेंसी: मध्य प्रदेश कांग्रेस ने मांग की है कि भाजपा-संघ नेतृत्व को शिवराज सिंह का इस्तीफा ले लेना चाहिये. कांग्रेस महासचिव और मध्य प्रदेश के प्रभारी मोहन प्रकाश ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत और भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के भोपाल प्रवास को व्यावसायिक परीक्षा मंडल, व्यापमं घोटले से चौपट हुई साख पर पर्दा डालने की कोशिश बताया और मांग की है कि अगर दोनों में जरा भी नैतिकता है तो वे भोपाल छोड़ने से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का इस्तीफा लें.

राजधानी भोपाल में संवाददाता सम्मेलन में मोहन प्रकाश ने रविवार को कहा, “व्यापमं घोटाले की जांच सर्वोच्च न्यायालय द्वारा केंद्रीय जांच ब्यूरो को सौंपे जाने के बाद से संघ और भाजपा से जुड़े लोग डरे हुए हैं, क्योंकि उन्हें जेल का दरवाजा नजर आ रहा है. व्यापमं ऐसा महाघोटाला है जिसमें सिर्फ आर्थिक अपराध ही नहीं हुआ है, बल्कि हत्या जैसे जघन्य अपराध भी हुए हैं.”


उन्होंने आगे कहा कि भागवत यहां कब से क्लास ले रहे हैं और भाजपा अध्यक्ष शाह भोपाल आ रहे हैं, यह सब साख बचाने के लिए संघ और पार्टी के शीर्षस्थ नेतृत्व की जी-तोड़ कोशिश है.

उन्होंने कहा, “यह सभी को पता है कि एक सरसंघचालक का सेवक मिहिर सिंह जेल में है, वहीं अन्य लोगों के भी नाम सामने आए हैं. नैतिकता की बात करके उमा भारती, लालकृष्ण आडवाणी, कैलाश जोशी का इस्तीफा लेने वाली भाजपा और संघ को मुख्यमंत्री चौहान का भी इस्तीफा लेना चाहिए.”

मोहन प्राकाश ने एक सवाल के जवाब में कहा कि इस घोटाले से प्रदेश की प्रतिष्ठा और गरिमा गिरी है. उन्होंने कहा, “चौहान जब तक मुख्यमंत्री पद पर रहेंगे, तब तक इस प्रदेश का गौरव वापस नहीं लौट सकता है.”

उन्होंने बताया कि कांग्रेस का 16 जुलाई का प्रदेश बंद शांतिपूर्ण रहेगा, किसी पर दवाब नहीं डाला जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!