कांग्रेस के फेरबदल में माकन मजबूत

नई दिल्ली | संवाददाता: नवंबर में होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव और 2014 के आम चुनाव के लिये कांग्रेस पार्टी ने रविवार को संगठन में भारी फेरबदल किया है. इस फेरबदल में सबसे अधिक जिम्मेवारी अजय माकन को मिली है. राहुल के गाइड कहे जाने वाले दिग्विजय सिंह को किनारे कर दिया गया है और उन्हें कर्नाटक, आंध्र वे गोवा का प्रभारी बनाया गया है. मनमोहन सरकार से शनिवार को इस्तीफा देने वाले अजय माकन को राजस्थान चुनाव की स्क्रीनिंग कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है और उन्हें महासचिव बनाने के साथ साथ कम्युनिकेशन्स, पब्लिसिटी और पब्लिकेशन का प्रभारी बनाया गया है. माकन को कांग्रेस की कार्यकारिणी के भी सदस्य बनाये गये हैं.

इसी तरह सी पी जोशी को असम, बिहार, पश्चिम बंगाल और अंडमान निकोबार का प्रभारी महासचिव बनाया गया है. पिछले फेरबदल से पहले मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने वाली अंबिका सोनी को भी पार्टी ने महासचिव नियुक्त किया है. सोनी की वर्किंग कमेटी में भी वापसी हुई है. मुंबई के नेता और मनमोहन सरकार में शामिल होने का न्यौता ठुकराने वाले गुरुदास कामत भी महासचिव बने हैं. शकील अहमद और मोहन प्रकाश को प्रमोशन देकर प्रभारी महासचिव बनाया गया है.


लंबे अरसे बाद कांग्रेस में 12 महासचिव बनाए गए हैं और सिर्फ महासचिवों को ही राज्यों का प्रभार सौंपा गया है. स्वतंत्र प्रभार वाली परंपरा समाप्त कर दी गई है. महासचिवों के साथ 42 सचिवों को संबद्ध किया गया है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने एनसयूआई, युवक कांग्रेस, महिला कांग्रेस समेत चारों फ्रंटल संगठनों की जिम्मेदारी अपने पास रखी है. अहमद पटेल सोनिया के राजनीतिक सचिव बने रहेंगे.

कांग्रेस के ताजा फेरबदल में महासचिवों को जो जिम्मेदारियां दी गई है, उसके अनुसार शकील अहमद को दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, मोतीलाल वोरा-कोषाध्यक्ष, एआईसीसी प्रशासन, अहमद पटेल-सोनिया के राजनितिक सचिव, अजय माकन- कम्युनिकेशन, पब्लिकेशन, अंबिका सोनी- हिमाचल, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और सीपीओ, बीके हरिप्रसाद- छत्तीसगढ़, झारखंड, ओडिशा, सीपी जोशी- असम, बिहार, पश्चिम बंगाल, अंडमान-निकोबार, दिग्विजय सिंह- आंध्र प्रदेश, गोवा, कर्नाटक, गुरुदास कामत- गुजरात, राजस्थान, दादरा-नगर हवेली, दमन-द्वीव, जनार्दन द्विवेदी- एआईसीसी मीटिंग, एआईसीसी डिपार्टमेंट, कांग्रेस वर्किंग कमिटी, संगठन, संगठन चुनाव, लोइजेमो फलेरो- अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघाल, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, त्रिपुरा और मधुसूदन मिस्त्री को उत्तर प्रदेश, सेंट्रल इलेक्शन कमिटी के लिये जिम्मेवार बनाया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!